शिक्षक-कर्मचारियों को मिलेगा बड़ा लाभ, जल्द पूरी होगी तबादले की प्रक्रिया, तकनीकी गड़बड़ी से कार्य में देरी

employees

Employees Transfer, Teachers Transfer, UP Teachers Transfer : शिक्षकों के तबादले पर बड़ी अपडेट सामने आई है। तबादले को लेकर एक बार फिर से प्रक्रिया में देरी देखने को मिल सकती है। एक से दूसरे जिले में हो रहे तबादले की प्रक्रिया के लिए पेयर बनाने की कार्रवाई के लिए पोर्टल 12 अगस्त से संचालित होना था लेकिन अब तक इसमें त्रुटि देखने को मिल रही है। जिसके कारण शिक्षक वर्ग काफी परेशान है।

शिक्षकों के तबादले की प्रक्रिया संचालित 

उत्तर प्रदेश में विभाग में पिछले कई महीनों से विभिन्न अवसर पर शिक्षकों के तबादले की प्रक्रिया संचालित की जा रही है लेकिन इसमें से अभी तक क भी पूरी एनहीं हो पाई है। बेसिक शिक्षा परिषद की ओर से 4 अगस्त को निर्देश जारी किए गए थे। जिसमें कहा गया था कि प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालय में शिक्षक को एक दूसरे दूसरे जिले में परस्पर तबादले की प्रक्रिया अगस्त के अंत तक पूरी कर दी जाएगी।

टाइमलाइन भी निर्धारित

इसके लिए टाइमलाइन भी निर्धारित किए गए थे। 10 अगस्त तक बीएसए शिक्षकों के रजिस्ट्रेशन पत्र को सबमिट करने के निर्देश दिए गए थे और 11 अगस्त को इन सभी आवेदन पत्रों को एनआईसी की ओर से विकसित पोर्टल पर अपलोड किया जाना था। 12 अगस्त से शिक्षक पारस्परिक स्थानांतरण के लिए पैर बनाने की कार्रवाई पूरी करने के निर्देश दिए गए थे। इस कार्रवाई में शिक्षक आवेदन करने के साथ ही दूसरे शिक्षक के मोबाइल पर ओटीपी जाएगा। ओटीपी देने के साथ ही यह प्रक्रिया पूरी मानी जाएगी।

मामले में विभाग की ओर से इसके लिए विकसित वेबसाइट, ओपन नहीं हो रही है। शिक्षकों के रजिस्ट्रेशन न हीं दिखाई दे रहे हैं, ना ही Pair बनाने की कार्रवाई हो पा रही है जबकि इस बीच लगातार छुट्टियां होने से आवेदन और Pair आदि के लिए भी शिक्षकों को पर्याप्त समय नहीं मिल पा रहा है। ऐसे में तबादले की प्रक्रिया को लेकर लंबा इंतजार करना पड़ सकता है।

मामले में बेसिक शिक्षा निदेशक महेंद्र देव का कहना है कि विभाग तेजी से शिक्षकों की तबादले और नियुक्ति की प्रक्रिया पूरी की जा रही है। कुछ तकनीकी वजह से पोर्टल नहीं खुल रहा है तो इसे जल्द ही ठीक करवाया जाएगा। शिक्षकों का परस्पर तबादला समय में पूरा कर लिया जाएगा।

इतना ही नहीं बेसिक शिक्षक लंबे समय से प्रमोशन भी इंतजार कर रहें है। इसके लिए भी प्रक्रिया कई महीने से चल रही है लेकिन पूरी नहीं हो पाई है। प्रमोशन के लिए विभाग वरिष्ठता सूची बनाकर अपलोड कर रहा है लेकिन अभी तक कई जिले में वरिष्ठितता सूची बाकी है। सूची के लिए टीईटी अनिवार्यता को लेकर स्थिति अस्पष्ट है।


About Author
Kashish Trivedi

Kashish Trivedi

Other Latest News