नए वैरिएंट ओमिक्रॉन का असर उड़ानों पर, लगभग दोगुने हुए हवाई किराए

डेस्क रिपोर्ट। पिछले डेढ़ साल से भी ज्यादा समय से कोरोना ने लोगों को और कंपनियों को आर्थिक रूप से तोड़ दिया है और अब जब धीरे-धीरे हालात सुधरने शुरू हुए तो कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन ने पूरी दुनिया को चिंता में डाल दिया, इंसानों पर असर के साथ ही अब ओमिक्रॉन का असर ट्रैवल इंडस्ट्री पर भी दिखने लगा है। एयरलाइन कंपनियों ने कई इंटरनेशनल रूट पर हवाई किराया बढ़ा दिया है।

भारत से अमेरिका, ब्रिटेन, यूएई और कनाडा जैसे देशों के लिए हवाई किराए दोगुने तक हो गए हैं। इंटरनेशनल डेस्टिनेशन की हवाई यात्रा करने वालों की परेशानियां यहीं खत्म नहीं हो रही हैं। ओमिक्रॉन से बचाव के लिए केंद्र सरकार की तरफ से लागू नई गाइडलाइन भी मंगलवार यानि आज आधी रात से लागू हो रही है। इन गाइडलाइंस में तय की गई प्रोसेस के कारण यात्रियों को एयरपोर्ट पर भी 6 घंटों तक इंतजार करना पड़ सकता है।

MP Board : विद्यार्थियों के लिए राहत भरी खबर, परीक्षा के लिए 1 दिसंबर से शुरू होंगे आवेदन

ओमिक्रॉन का उड़ानों के किराये पर कुछ ऐसा असर पड़ा है कि दिल्ली से लंदन के लिए फ्लाइट टिकट का रेट लगभग 60,000 से बढ़कर 1.5 लाख रुपए हो गया है, वही दिल्ली से दुबई का हवाई किराया लगभग दोगुना होकर 33,000 रुपए पर पहुंच गया है। इससे पहले दिल्ली से दुबई का राउंड ट्रिप टिकट 20,000 रुपए में पड़ता था। दिल्ली से अमेरिका की राउंड ट्रिप कॉस्ट पहले 90,000 रुपए से 1.2 लाख रुपए के बीच थी। ये बढ़कर अब लगभग 1.5 लाख रुपए हो गई है, शिकागो, वॉशिंगटन डीसी और न्यूयॉर्क सिटी के हवाई किराए में 100% की बढ़ोतरी देखी गई है, बिजनेस क्लास टिकट की कीमत दोगुनी होकर 6 लाख रुपए हो गई है।दिल्ली से टोरंटो का हवाई किराया लगभग 80,000 रुपए से बढ़कर 2.37 लाख रुपए पर पहुंच गया है।

RTO का वायरल वीडियो “सौ ग्राम गांजे की पुड़िया ऑटो में रखकर करा दूंगा अंदर”

अब  कोरोना की नई गाइड्लाइन के चलते अब एयरपोर्ट पर RTPCR नेगेटिव रिपोर्ट के बाद ही अगले गंतव्य तक जाने मिलेगा, जिन देशों में ओमिक्रॉन पाया गया है, वहां से आने वाले हजारों यात्रियों को दिल्ली एयरपोर्ट पर 6 घंटे का इंतजार करना पड़ सकता है। 1 दिसंबर मिडनाइट से केंद्र सकरकर की नई गाइड्लाइन प्रभावी हो जाएगी।

राज्यसभा में बोलीं वित्त मंत्री- Cryptocurrency पर जल्द पेश होगा विधेयक, जाने महत्वपूर्ण तथ्य

नई गाइडलाइन में 14 से ज्यादा देशों में जहां ओमिक्रॉन के मामले पाए गए हैं, उन देशों से आने वाले यात्रियों की एयरपोर्ट पर RT-PCR टेस्टिंग अनिवार्य कर दी गई है। इन देशों से आने वाले यात्री एयरपोर्ट पर किए गए कोविड टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट आने के बाद ही बाहर निकल सकेंगे। एयरपोर्ट पर किए गए RT-PCR टेस्ट का रिजल्ट आने में 4 से 6 घंटे का समय लगेगा। टेस्ट का रिजल्ट आने तक यात्रियों को एक स्पेशल होल्डिंग एरिया में इंतजार करना होगा और रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद ही यात्री अपनी अगली यात्रा या फिर जहां जाना है वहा के लिए रवाना हो सकेगा।