नई दिल्ली।

 बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण के जेएनयू के बाद देश में बवाल मच गया है। जहां एक तरफ उनके इस कदम की तारीफ हो रही है वहीं इससे कहीं ज्यादा इसका विरोध होने लगा है। सोशल मीडिया में लोग ट्वीट कर उनकी फिल्म Chapak का बायकॉट करने की अपील कर रहे हैं, वही कई लोग इसे सपोर्ट भी कर रहे है। इसी घमासान के बीच मोदी सरकार में  सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने कहा है कि सिर्फ कलाकार ही क्यों, कोई भी आम आदमी अपने विचार प्रकट करने के लिए कहीं भी जा सकता है और इसमें कहीं कोई आपत्ति नहीं हो सकती।

केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक के बाद जावड़ेकर ने संवाददाताओं के सवाल के जवाब में कहा यह लोकतांत्रिक देश है। कोई कलाकार ही क्यों, कोई भी सामान्य व्यक्ति कहीं जा सकता है, अपनी राय रख सकता है। इसमें कोई आपत्ति नहीं, कभी किसी ने आपत्ति की भी नहीं। इस बारे में कई सवालों के जवाब में उन्होंने कहा कि मैं भाजपा का मंत्री भी हूं और प्रवक्ता भी और मैं यह बात कह रहा हूं। 

वहीं, दूसरी ओर बीजेपी के एक सांसद ने दीपिका पादुकोण की अगली फिल्म ‘छपाक’ का बहिष्कार करने को कहा है। दक्षिणी दिल्ली के बीजेपी सांसद रमेश बिधूड़ी ने कहा कि देश के खिलाफ खड़ा होने वाले लोगों के साथ दिखने की बजाए बॉलीवुड सितारों से फिल्मों के जरिए देश में युवाओं को सकारात्मक संदेश देने की अपेक्षा होती है।     

बता दे कि बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में छात्रों पर हुए हमले के बाद अपनी एकजुटता दिखाने के लिए मंगलवार को जेएनयू पहुंची, लेकिन उन्होंने वहां मौजूद लोगों को संबोधित नहीं किया हालांकि वहां वे दस मिनट रुकी और छात्रों से बातचीत की।