मालव्य राजयोग में जन्में लोगों का ऐसा होता है व्यक्तित्व, जानें कैसे होता है इसका निर्माण

Avatar
Published on -
Rajyog

Malavya Rajyog : ज्योतिष शास्त्र के हिसाब से ग्रहों की स्थति में बदलाब और राशि परिवर्तन की वजह से कई शुभ और अशुभ राजयोग का निर्माण कुंडली में होता है। शुभ राजयोग में पंचमहापुरुष राजयोग शामिल है। पंचमहापुरुष राजयोग में से एक मालव्य राजयोग बेहद शुभ माना गया है। जिस भी जातक की कुंडली में ये राजयोग पाया जाता है वो जातक भाग्यशाली माना जाता है। उस जातक को जीवन में किसी भी तरह की समस्या नहीं झेलनी पड़ती है। खास बात ये है कि इस राजयोग की वजह से जातक का व्यक्तित्व काफी ज्यादा निखर जाता है।

2024 में होगा मालव्य राजयोग का निर्माण 

आपको बता दे, 2024 में मालव्य राजयोग का निर्माण होने जा रहे हैं। ये कई जातकों को शुभ परिणाम देने वाला है। इस योग की वजह से जातकों के अच्छे दिन शुरू हो जाएंगे। दरअसल, धन, ऐश्वर्य और सौभाग्य का कारक शुक्र ग्रह गोचर करने जा रहा है। शुक्र अपनी उच्च राशि मीन में प्रवेश करने वाला है जिसके चलते मालव्य राजयोग का निर्माण होगा। ज्योतिषों के मुताबिक जब शुक्र अपनी राशि वृषभ, तुला या फिर उच्च राशि मीन के पहले, चौथे, सातवें और दसवें भाव में विराजमान होते हैं तो मालव्य राजयोग का निर्माण होता है।

मालव्य राजयोग क्या है?

मालव्य राजयोग को शुक्र से संबंधित माना गया है। ज्योतिषों के मुताबिक शुक्र अगर कुंडली में लग्न या चंद्रमा से 1,4,7 और 10वें घर में वृषभ, तुला और अपनी उच्च राशि मीन में स्थित होता है तब मालव्य राजयोग का निर्माण होता है। जिस भी जातक की कुंडली में मालव्य राजयोग पाया जाता है वह जातक सौंदर्य और कल का प्रेमी होता है। उसे जातक को संगीत, फिल्म, काला और अन्य कार्य क्षेत्र में सफलता प्राप्त होती है। ऐसे जातकों में साहस पराक्रम बाल और ताकत भरपूर पाई जाती है। यह लोग निर्णय लेने में भी काफी ज्यादा सक्षम होते हैं।

मालव्य राजयोग में जन्म लेने वाले व्यक्ति के आकर्षण का केंद्र उनके होंठ होते हैं। कहा जाता है कि ऐसे जातकों को भौतिक सांसारिक सुखों की प्राप्ति होती है। ज्योतिषों का मानना है कि ऐसे लोग आकर्षक, कांतिमान, पुष्ट शरीर वाले, धैर्यवान, विद्वान, प्रसन्नचित, सदैव वृद्धि प्राप्त करने वाले होते हैं। उनके पास धन की कोई कमी नहीं होती है। इन्हें भाग्यशाली माना जाता है। यह भौतिक सुखों को आसानी से प्राप्त कर लेते हैं। इन्हें जन्मजात से ही विद्वान माना जाता है।

डिस्क्लेमर – इस लेख में दी गई सूचनाएं सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है। एमपी ब्रेकिंग इनकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ की सलाह लें।


About Author
Avatar

Ayushi Jain

मुझे यह कहने की ज़रूरत नहीं है कि अपने आसपास की चीज़ों, घटनाओं और लोगों के बारे में ताज़ा जानकारी रखना मनुष्य का सहज स्वभाव है। उसमें जिज्ञासा का भाव बहुत प्रबल होता है। यही जिज्ञासा समाचार और व्यापक अर्थ में पत्रकारिता का मूल तत्त्व है। मुझे गर्व है मैं एक पत्रकार हूं। मैं पत्रकारिता में 4 वर्षों से सक्रिय हूं। मुझे डिजिटल मीडिया से लेकर प्रिंट मीडिया तक का अनुभव है। मैं कॉपी राइटिंग, वेब कंटेंट राइटिंग, कंटेंट क्यूरेशन, और कॉपी टाइपिंग में कुशल हूं। मैं वास्तविक समय की खबरों को कवर करने और उन्हें प्रस्तुत करने में उत्कृष्ट। मैं दैनिक अपडेट, मनोरंजन और जीवनशैली से संबंधित विभिन्न विषयों पर लिखना जानती हूं। मैने माखनलाल चतुर्वेदी यूनिवर्सिटी से बीएससी इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में ग्रेजुएशन किया है। वहीं पोस्ट ग्रेजुएशन एमए विज्ञापन और जनसंपर्क में किया है।

Other Latest News