धर्म:- आज पुष्य नक्षत्र, देखिये क्या होता इस दिन खास, कैसे आती है समृद्धि।

धर्म, डेस्क रिपोर्ट। दिवाली आने को है, घरों में साफ सफाई युद्ध स्तर पर चालू है, अलग अलग तरह के पकवानों की महक मोहल्ले की हवाओं में घुल गई है, बच्चों की पटाखे लाने की खुशी चरम पर है, रंग रोगन कर घरों की सीरत और सूरत दोनों ही बदली जा रही है, ऐसे में 677 साल बाद बन रहा है एक शुभ संयोग निश्चित ही लोगों के लिए बेहद शुभ प्रतीत होता है।

धर्म:- आज पुष्य नक्षत्र, देखिये क्या होता इस दिन खास, कैसे आती है समृद्धि।

अक्सर माना जाता है यदि आप पुष्य नक्षत्र में खरीदारी करते हैं तो साल भर आपके घर लक्ष्मी आगमन होता है। दिवाली से पहले इस शुभ संयोग का पूरे 677 साल बाद बनना बहुत ही लाभकारी है। गुरुवार सुबह 9:40 बजे से लेकर, शुक्रवार सुबह 11:37 बजे तक का समय ज्योतिष अनुसार खरीदारी के लिए श्रेष्ठ रहेगा।

पेंशनर्स के लिए बड़ी खबर, पेंशन को लेकर बदले नियम, आया बड़ा अपडेट

ज्योतिषानुसार देवताओं द्वारा पूजनीय और मंगलकारी पुष्य नक्षत्र को 27 नक्षत्रों का राजा कहा जाता है। इस दिन किए जा रहे किसी भी शुभ कार्य के लिए आपको चौघड़िया या पंचांग देखने की जरूरत नहीं होती है। केवल विवाह संबंधी कार्यों में समय देखना ज़रूरी होता है। इसी के साथ आज के दिन अहोई अष्टमी का व्रत भी किया जा रहा है। ये व्रत माता पार्वती को अर्पित कर संतान की लंबी उम्र की प्रार्थना के लिए किया जाता है। शाम के समय तारों की छांव में जल ग्रहण कर इस व्रत का समापन किया जाता है।

MP Panchayat Election: पंचायत चुनावों पर HC में अहम सुनवाई, सरकार घोषित कर सकती है प्लान

सर्वाथसिद्धि योग, रवि योग और अमृत योग से युक्तपुष्य नक्षत्र का ये दिन खरीदारी के लिए अत्यंत शुभ होता है। चाहे स्वर्ण आभूषण की खरीदारी की बात हो, या चल-अचल संपत्ति की खरीदारी की, ज्यादातर लोग आज के दिन का विशेषतौर पर इंतजार करते हैं। नई गाड़ी, नई दुकान का उद्घाटन, व्यापार से जुड़े उपकरण, यहां तक कि शेयर मार्केट में निवेश करने के लिए भी कुछ लोग आज के दिन का इंतजार करते हैं। मकर राशि में शनि और गुरु की युक्ति आज के दिन को बेहद शुभ बनाती है क्यूंकि ज्योतिष के अनुसार पुष्य नक्षत्र के स्वामी शनि हैं और देवताओं के पूज्य देव गुरु हैं। ऐसे में खरीदारी करना सभी के लिए बेहद मंगलकारी माना जाता है।

आज का चौघड़िया एवं शुभ–मुहूर्त।

चर काल:– सुबह 11.18 AM से दोपहर 12.48 PM तक।

लाभ काल:– दोपहर 12.48 PM से दोपहर 1.52 PM तक ।

अमृत काल:– दोपहर 1.52 PM से दोपहर 2.51 PM तक।

शुभ काल :– दोपहर 4.48 PM से शाम 6.28 PM तक।

अमृत काल:– शाम 6.28 PM से शाम 7.56 PM तक।

चर काल:– शाम 7.56 PM से शाम 9.00 PM तक।

वाहन खरीदने का मुहूर्त-समय

सिद्धि योग:– सुबह 6.38 AM से सुबह 9.41 AM तक।

शुभ काल का चौघडिय़ा:– सुबह 6.38 AM से सुबह 8.01 AM तक।

शुभ काल का चौघडिय़ा:– शाम 4.20 PM से शाम 5.44 PM तक।