आखिरी एकदिवसीय मुकाबला खेलने उतरे बेन स्टोक्स

पिछली साल मानसिक दबाव के चलते खेल से अनिश्चितकाल के लिए ब्रेक लेने वाले स्टोक्स ने यह निर्णय भी ज्यादा व्यस्त कार्यक्रम होने के चलते लिया है।

खेल, डेस्क रिपोर्ट। इंग्लैंड के टेस्ट कप्तान और बेहतरीन ऑलराउंडर बेन स्टोक्स सोमवार को सन्यास की घोषणा करने के बाद आज डरहम के मैदान पर साउथ अफ्रीका के खिलाफ अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय मुकाबला खेलने के लिए उतर गए है। इस दौरान वह काफी भावुक नजर आए और उनके साथियों ने उन्हें ‘गार्ड ऑफ ऑनर’ दिया। पिछली साल मानसिक दबाव के चलते खेल से अनिश्चितकाल के लिए ब्रेक लेने वाले स्टोक्स ने यह निर्णय भी ज्यादा व्यस्त कार्यक्रम होने के चलते लिया है।

स्टोक्स अपनी घोषणा के दौरान ही यह साफ कर चुके है कि वह खेल के सबसे लम्बे फॉर्मेट को खेलते रहेंगे। इस बीच इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ECB) में इंग्लैंड के पुरुष क्रिकेट के मैनेजिंग डायरेक्टर रॉब की ने इस फैसले को निस्वार्थ बताया है। उन्होंने कहा, “बेन स्टोक्स को उनके अनुबंध के संदर्भ में वित्तीय प्रभाव पड़ सकता है इसलिए यह एक निस्वार्थ निर्णय है, वह आसानी से टीम का हिस्सा बने रह सकते थे।”

ये भी पढ़े … इस ऐप का हुआ डेटा लीक, बेचीं जा रही भारतीय यूजर्स की जानकारी

उन्होंने आगे कहा, “लेकिन वह जितना हो सके टेस्ट को समय देना चाहते हैं, वह इंग्लैंड की टेस्ट टीम को आगे ले जाना चाहते हैं। मैं शायद समय पर हैरान था, लेकिन मुझे आश्चर्य नहीं है कि उन्होंने एकदिवसीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया। मुझे लगता है कि बेन का यह एक अच्छा निर्णय है कि इंग्लैंड को लंबे समय में फायदा होगा”

ऐसा रहा स्टोक्स का एकदिवसीय करियर

2019 के वर्ल्ड कप फाइनल में बेन स्टोक्स ने अपनी टीम को चैंपियन बनाने में एक महत्वपूर्ण योगदान दिया था। न्यूजीलैंड के खिलाफ उन्होंने 84 रन की नायाब पारी खेलकर मैच को टाई कराया, जिसके बाद सुपर ओवर टाई हुआ तो चौकों की गिनती के आधार पर मैच का निर्णय आया और इंग्लैंड विजेता बना। स्टोक्स ने अपनी तक खेले गए 104 अंतरराष्ट्रीय एकदिवसीय मुकाबलो में 39.4 की औसत और 95.3 के स्ट्राइक रेट से 2919 रन बनाए है, जिसमें 3 शतक और 21 अर्धशतक शामिल है। इसके अलावा उन्होंने 6.02 की इकॉनमी से 74 विकेट भी चटकाए है।