आईपीएल 2022 : क्या महेंद्र सिंह धोनी के आने से बदलेगी सीएसके की दशा? रिकार्ड्स कर रहे उसी तरफ इशारा

मौजूदा सीजन में अभी भी चेन्नई सुपर किंग्स के 6 मैच बाकी है, जबकि की वह फिलहाल 8 मैचों में से सिर्फ 4 जीत के साथ पॉइंट्स टेबल में 9वें स्थान पर है। इस सीजन में सीएसके ने अपने फैंस को बहुत चौंकाया है, टूर्नामेंट शुरू होने के दो दिन पहले महेंद्र सिंह धोनी ने कप्तानी रविंद्र जडेजा को हैंड-ओवर की, उसके बाद टीम ने निरंतर खराब प्रदर्शन किया, हालात यहां तक पहुंच गए कि अगर टीम अब एक भी मैच गंवा देती है तो वह टूर्नामेंट से बाहर हो जाएगी।

खेल, डेस्क रिपोर्ट। मौजूदा सीजन में अभी भी चेन्नई सुपर किंग्स के 6 मैच बाकी है, जबकि की वह फिलहाल 8 मैचों में से सिर्फ 4 जीत के साथ पॉइंट्स टेबल में 9वें स्थान पर है। इस सीजन में सीएसके ने अपने फैंस को बहुत चौंकाया है, टूर्नामेंट शुरू होने के दो दिन पहले महेंद्र सिंह धोनी ने कप्तानी रविंद्र जडेजा को हैंड-ओवर की, उसके बाद टीम ने निरंतर खराब प्रदर्शन किया, हालात यहां तक पहुंच गए कि अगर टीम अब एक भी मैच गंवा देती है तो वह टूर्नामेंट से बाहर हो जाएगी, शायद यही कारण रहा, जो जड्डू ने बीच सीजन में ही कप्तानी छोड़कर फिर से यह दायित्व दुनिया के सफल कप्तानों में से एक महेंद्र सिंह धोनी को सौंप दिया। लेकिन सवाल अब यह उठता है कि क्या इस मुश्किल की घड़ी में माही अपनी टीम को दोबारा से वापसी कराकर प्लेऑफ में टीम की जगह सुनिश्चित कर पाएंगे ?

वैसे अगर हम उनके रिकार्ड्स पर नजर डाले तो, वे इसी तरफ इशारा करते है कि धोनी ने एक बार नहीं बल्कि कई बार मुश्किलों से अपनी टीम को निकाला है।

धोनी की अगुवाई में 9 फाइनल खेल चुकी है सीएसके

कप्तान कूल रिकॉर्ड 9 बार अपनी टीम को फाइनल में लेकर गए है, जहां चार बार उनकी टीम ने खिताब भी अपने नाम किया है। चेन्नई ने 2010, 2011, 2018 और 2021 में आईपीएल की ट्रॉफी पर अपना नाम दर्ज कराया है। आईपीएल में सबसे ज्यादा मैचों में कप्तानी और जीत हासिल करने के मामले में भी धोनी पहले नंबर पर है। धोनी की अगुवाई में टीम ने 204 मैच खेले है, जहां उसने 121 में जीत दर्ज की है। चेन्नई के कप्तान के रूप में उनका जीत का प्रतिशत 59.60 है। आईपीएल के अलावा धोनी की कप्तानी में सीएसके दो बार चैम्पियंस लीग का भी खिताब भी अपने नाम किया है।

आईपीएल 2022 में अब तक चेन्नई सुपर किंग्स का प्रदर्शन-

पहला मैच :कोलकाता ने 6 विकेट से हराया
दूसरा मैच :लखनऊ ने 6 विकेट से हराया
तीसरा मैच :पंजाब ने 54 रनों से हराया
चौथा मैच :हैदराबाद ने 8 विकेट से हराया
पांचवा मैच :बेंगलुरु को 23 रनों से मात दी
छठवां मैच :गुजरात ने 3 विकेट से हराया
सातवां मैच :मुंबई को 3 विकेट से मात दी
आठवां मैच :पंजाब ने 11 रनों से हराया