10वीं में थर्ड डिवीजन पाने वाला कैसे बन गया आईएएस

IAS ऑफिसर ने अपने 10वीं की थर्ड डिवीजन वाली मार्क्सशीट शेयर कर लोगों का हौसला बढ़ाया है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। क्या आप सोच सकते है कि दुनिया के सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक UPSC को दसवीं कक्षा में थर्ड डिवीजन से पास होने वाला छात्र निकल सकता है? शायद नहीं, क्योंकि इस परीक्षा को निकालने के लिए सच में एक छात्र को पढ़ाकू, जिद्दी, मेहनती या कहे तो इस दुनिया में जितने भी प्रेरणादायक शब्द बने है, वह सब UPSC उम्मीदवार के चरित्र से झलकने चाहिए।

प्रतिद्वंद्विता का अंदाजा आप यही से लगा सकते है कि हर साल लाखों की संख्या में कैंडिडेट्स UPSC के एग्जाम में शामिल होते हैं, जहां प्री के बाद मेन्स में सफल होने वाले कैंडिडेट्स को इंटरव्यू से गुजरना होता है और आते-आते आखिर में IAS के लिए 200 से भी कम कैंडिडेट्स चुने जाते हैं।

तो एक IAS अफसर कितनी मेहनत के बाद बनता है, इसका एक हल्का सा आईडिया तो आपको लग ही गया होगा।

ये भी पढ़े … बठिंडा हाईकोर्ट पहुंची कंगना रनोट, महिला को लेकर किया था विवादित ट्वीट

लेकिन इस बीच एक IAS अफसर ने इस चीज को तो साबित कर दिया कि मार्कशीट के नंबर आपकी मंजिल तय नहीं करने वाले है। दरअसल, IAS अवनीश शरण ने एक ट्वीट कर सबको चौंका दिया है। इस ट्वीट में उन्होंने अपनी दसवीं की मार्कशीट शेयर की है, जिसमें साफ-साफ नजर आ रहा है कि उन्होंने दसवीं थर्ड डिवीजन से पास की थी और उनकी यह मार्कशीट देखते ही देखते वायरल हो गई।

इस दौरान कई लोगों ने वायरल ट्वीट पर लिखा है कि IAS ऑफिसर ने अपने 10वीं की थर्ड डिवीजन वाली मार्क्सशीट शेयर कर लोगों का हौसला बढ़ाया है। जबकि इस बीच एक यूजर ने यह भी लिखा कि थर्ड डिविजन आने की वजह से उन्होंने यूपीएससी की तैयारी करने का फैसला ही बदल दिया।

बता दे, IAS ऑफिसर अवनीश शरण बिहार से आते है और उन्होंने दसवीं भी बिहार बोर्ड से ही की है। अवनीश शरण ने साल 2002 में UPSC एग्जाम में ऑल इंडिया 10वीं रैंक हासिल की थी।