Video : नवजात हाथी ने भरे पहले कदम, लड़खड़ाकर गिरना और सीखना ही है जीवन

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। पहला कदम बहुत महत्वपूर्ण होता है। फिर चाहे वो बचपन में पहली बार चलना हो या जीवन के अलग अलग पड़ावों में कोई पहला फैसला। हर पहले कदम पर मन में उत्साह, असमंजस, थोड़ा भय और एक उम्मीद होती है। हम एक एक कदम भरते आगे बढ़ते जाते हैं..धीरे धीरे दौड़ने भी लगते हैं। लेकिन उसके पीछे यही एक नन्हा, पहला कदम होता है जो हमें जीवन में चलना सिखाता है।

Video : आज से 30 साल पहले ऐसा होता था hands free टेलीफोन का विज्ञापन

कई बार हम अपने पहले कदम में गिरते हैं, लड़खड़ाते हैं, डगमगाते हैं..लेकिन यही सीख है जीवन की। बिना सीखे आगे बढ़ना संभव नहीं। आज हम आपको ऐसा ही एक वीडियो दिखाने जा रहे हैं। इसमें एक नवजात हाथी का बच्चा है जो पहली बार अपने पैरों पर चलने की कोशिश कर रहा है। इस कोशिश के दौरान उसे तकलीफ हो रही है, लेकिन वो हार नहीं मान रहा। वीडियो में हमें एक नन्हा हाथी (baby elephant) दिखता है। ये हाल ही में जन्मा है और अपने सबसे कम्फर्ट जोन यानी मां के गर्भ से बाहर आते ही इसके सामने इस संसार में खुदको बचाने रखने की चुनौती है। ये अपना पहला डग भरता है और लड़खड़ाकर गिर पड़ता है।

इसके पैर अभी आसानी से जमीन पर टिक नहीं रहे, शरीर का भार नहीं उठा पा रहे। लेकिन वो फिर उठता है और दुबारा कोशिश करता है। इस बार और संभलकर, संतुलन बैठाते हुए आगे बढ़ता है। लेकिन उसे नहीं पता कि कि पैरों को किस तारतम्य में रखना है। वो अपने ही पैरों में उलझकर फिर गिर जाता है। लेकिन फिर उठता है और आगे बढ़ने की कोशिश करता है। दरअसल..ये शिक्षा भी है कि चाहे कितनी कठिनाई हो, हमें कोशिश नहीं छोड़नी चाहिए। कोशिश करने पर जीत की संभावना 50 प्रतिशत तो होती ही है। लेकिन अगर हम कोशिश छोड़ देंगे तो हार खुद हमारी चुनी हुई होगी। हमें पता है कि कुछ ही समय में ये हाथी तेज़ी से चलने लगेगा, लेकिन ये कदम उसे हमेशा याद दिलाते रहेंगे कि जीवन में आगे बढ़ना और उठन..इसका क्या अर्थ होता है।