एससी, एसटी एक्ट के विरोध का बीजेपी के दलित विधायक ने किया समर्थन

अशोकनगर| देशभर एससी एसटी एक्ट में हुए संशोधन के विरोध में लोग सड़को पर उतर रहे है । सामान्य ,पिछड़ा एवं अल्पसंख्यक वर्ग के लोगो मे इस समय रोष है और इस रोष एवं विरोध का सामना राजनैतिक दलों के लगभग सभी नेताओ को करना पड़ रहा है। ज्यादातर नेता या तो इस मुद्दे पर चुप है या बचना चाहते है, क्योंकि वोट की राजनीति के चक्कर नेता भी फूंक फूंक कर कदम रख रहे हैं|  भाजपा के लिये यह संशोधन अब गले की हड्डी बनने लगा है। इस बीच बीजेपी के दलित विधायक गोपीलाल जाटव ने सवर्णों की मांग को जायज ठहराते हुए उनके विरोध का खुलकर समर्थन कर दिया है, विधायक के इस कदम से सियासत गरमा गई है| 

दरअसल, गुरूवार को सवर्ण जाति के लोगों ने जिले में जमकर विरोध प्रदर्शन किया। कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को अपने ही गढ़ गुना अशोकनगर में जमकर विरोध झेलना पड़ा , हालांकि सिंधिया इस मुद्दे पर खुल कर बोलने से बचते रहे। मगर जब विरोध कर रहे लोग अपनी पांच सूत्री मांगों का ज्ञापन अशोकनगर के दलित भाजपा विधायक गोपीलाल जाटव के पास पहुंचे तो उनका जवाब चौकाने वाला था। खुद दलित समाज से आने वाले विधायक जाटव ने माना कि लोग जो विरोध कर रहे है वह जायज है उसका वह खुलकर समर्थन करते है। इतना ही नही वह इस मुद्दे को विधानसभा में  रखने एवं पार्टी फोरम पर उठाने की बात कह रहे है। अमूमन चुप्पी साध चुके नेताओ के बीच विधायक का यह बयान चर्चाओं में बना है। क्योकि ये गोपीलाल जाटव भाजपा के वही दलित चेहरा है जिनका उपयोग सिंधिया के खिलाफ पार्टी अक्सर करती रहती है। मुंगाबली उपचुनाव के दौरान पत्तल पर खाना खिलाने एवं इनके द्वारा ट्रामा सेंटर के उद्घाटन पर उसे गंगाजल से धोकर शुध्द करने के मामले पर यही  दलित भाजपा विधायक गोपीलाल जाटव देशभर की सुर्खियों में आये थे। आज चुनाव के कुछ पहले सामान्य वर्ग के लोगो के प्रति अचानक इनका प्रेम उमड आया है।