Breaking News
फ्लॉप रहा कांग्रेस का 'घर वापसी' अभियान, सिर्फ कार्यकर्ता लौटे, नेताओं ने बनाई दूरी | शिवराज कैबिनेट की बैठक ख़त्म, इन प्रस्तावों पर लगी मुहर | सीएम चेहरे को लेकर सोशल मीडिया पर जंग, दिग्विजय भड़के | मुख्यमंत्री के काफिले पर पथराव, महिदपुर- नागदा के बीच की घटना, पुलिस वाहन के कांच फूटे | अब भोपाल में राहुल ने फिर मारी आंख, वीडियो वायरल | एमपी की 148 सीटों पर खतरा, बिगड़ सकता है बीजेपी का चुनावी गणित | LIVE: ऊपर से टपकने वाले को नहीं मिलेगा टिकट : राहुल गांधी | राहुल की सभा में उठी सिंधिया को सीएम कैंडिडेट घोषित करने की मांग | राहुल के भोपाल दौरे पर वीडियो वार..'कांग्रेस हल है या समस्या' | कांग्रेस का शक्ति प्रदर्शन: 11 कन्याओं ने उतारी राहुल की आरती, 21 पंडितों ने किया मंत्रोचार |

70 हजार किसानों के खाते में सरकार ने ट्रांसफर किए 57 करोड़ रुपए

बालाघाट

मेरे अन्नदाता आपने मध्यप्रदेश के अन्न के भंडार भर दिये, लेकिन उपज की कीमत कम हो गई। इसलिए उचित कीमत मिलने का रास्ता साफ किया और आज बालाघाट के किसानों के खाते में 57 करोड़ 87 लाख रुपये ट्रांसफर कर दिये। किसान समृद्धि योजना का पैसा केवल बालाघाट के किसानों के खाते में नहीं, बल्कि मध्यप्रदेश के सभी पात्र किसानों के खाते में यह पैसा पहुंचाया जा रहा है। बालाघाट जिले में किसी भी गरीब को ज़मीन के बिना नहीं रहने दिया जाएगा उन्हें ज़मीन के टुकड़े का मालिक बनाया जाएगा, साथ ही सबके पास 4 साल के अंदर पक्के मकान होंगे इसके लिए व्यवस्था हमने कर ली है।बालाघाट वह धरती है, जहाँ बेटों की तुलना में बेटियाँ अधिक जन्म लेती हैं। गर्भवती मजदूर बहनों को 6वें महीने 4 हज़ार और माँ बनने के बाद 12 हज़ार रुपये और दिये जायेंगे, ताकि वह ढंग से अपना ध्यान रख सकें। बालाघाट में सड़क के सीमेंटीकरण के लिए 10 करोड़ रुपये की मांग की गई है, लेकिन 10 के 20 करोड़ ही क्यों न लग जाएँ लेकिन जन सुविधाओं को उपलब्ध कराने के लिए पूरा ध्यान रखा जाएगा। कॉंग्रेस के समय जब मैं यहाँ विधायक था तब 50,000 रुपये भी सड़क निर्माण के लिए नहीं मिल पाते थे, आज हमने बालाघाट में विकास कार्यों के 450 करोड़ रुपये का लिए प्रावधान किया है।

उन्होंने कहा कि  किसान अपने उत्पादों के कम कीमत पर बिकने पर परेशान मत होना। तुम्हारे पसीने की पूरी कीमत तुम्हें मिलेगी। गेहूं के साथ चना, सरसों पैदा करने वाले किसान भी चिंतित न हों। चना के 4500 रुपये प्रति क्विंटल देने की व्यवस्था की है। किसान की फसल खराब होगी तो 30 हज़ार रुपये प्रति हेक्टेयर की दर से उसे राहत दी जाएगी और फसल बीमा का भी लाभ दिया जायेगा।  यह उक्त बातें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बालाघाट में आयोजित वृहद किसान सम्मेलन एवं उत्पादकता प्रोत्साहन राशि वितरण समारोह के दौरान कही।

पढ़ाई और लोन में करेंगें मदद

उन्होंने कहा कि किसान बेटे-बेटी अगर खेती से संबन्धित कोई उद्यम शुरू करना चाहते हो तो युवा कृषक उद्यमी योजना में तुम्हें 10 लाख से 2 करोड़ रुपये तक ऋण दिया जायेगा और लोन की गारंटी भी प्रदेश सरकार लेगी। मैं चाहता हूँ कि किसानों के बेटा बेटी कृषि के अतिरिक्त भी कार्य करें इसके लिए कृषक युवा उद्यमी योजना बनाई है। इसके अंतर्गत लिए गए लोन की गारंटी सरकार लेगी।महुवे का फूल और तेंदू पत्ता चुनने वाले श्रमिक भाइयों के लिए हमने चरणपादुका योजना आरंभ की ताकि उनके पैरों को तकलीफ ना हो। मुख्यमंत्री असंगठित मजदूर कल्याण योजना बनाई है ताकि समाज के हर क्षेत्र के श्रमिकों का कल्याण हो सके। योजना में रहने की ज़मीन का मालिक हर गरीब बनाया जायेगा। जिनकी घास-फूस की झोपड़ी होगी, उसे पक्का मकान दिया जायेगा। पहली से पीएचडी तक की फीस भी सरकार भरेगी।

किसान समृद्धि योजना में देंगे 332 करोड़ 

इसके साथ ही 200 रुपए प्रति क्विंटल की दर से धान बेचने वाले किसानों के खाते में 332 करोड़ रुपए ट्रांसफर कराए जाएंगे। किसानों की योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाएंगे। प्रदेश में किसानों को खुशहाल करने के काम में सरकार जुटी रहेगी। 

जल्द खत्म की जाएगी संविदा की व्यवस्था

सीएम ने कहा कि संविदा की जो व्यवस्था है, वह शोषण की व्यवस्था है। उसको समाप्त करके उचित व्यवस्था लागू करने जा रहे है।इसे खत्म कर रहे हैं और योग्य और काबिल लोगों को परमानेंट नौकरी दी जाएगी। वही नौजवान बेटों और बेटियों अगले महीने हम 1 लाख नौकरियाँ निकाल रहे हैं और बेटियों के लिए आरक्षण भी रहेगा। ताकी प्रदेश के युवाओं को नौकरी मिल सके। 

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...