Breaking News
खाना खाने के बाद बिगड़ी तबियत, दो सगी बहनों की मौत, मां की हालत गंभीर | पूर्व राष्ट्रपति शंकर दयाल शर्मा की जन्मशताब्दी मनाएगी सरकार : शिवराज | अस्पताल के बच्चा वार्ड में लगी आग, मची अफरा-तफरी, 35 बच्चे थे भर्ती | खुशखबरी : मंत्री ने किसानों की मांग की पूरी, मोहनी सागर डेम से हरसी के लिए छुड़वाया पानी | पदोन्नति में आरक्षण : अब 22 अगस्त को होगी अगली सुनवाई, सपाक्स रखेगा अपना पक्ष | MP : आकाशीय बिजली का कहर, मवेशी चराने गए 6 लोगों की मौत, 12 घायल | गंगा की गोद में समाए 'अटल', 'बेटी नमिता ने ऊं' के उच्चारण के साथ हरकी पैड़ी में विसर्जित की अस्थियां | 'मजनू' के सिर से उतारा इश्‍क का भूत, लड़की ने चप्पलों से पीटा, भीड़ ने काटे बाल | महाकाल मंदिर के बाहर खून-खराबा, युवक ने दंपत्ति पर किया चाकू से हमला, मचा हड़कंप | BSP राष्ट्रीय महासचिव का गठबंधन से इंकार, कहा- प्रदेश की 230 सीटों पर लडेंगें चुनाव |

सुसाइड नोट का दूसरा पन्ना मिला, अपनी प्रॉपर्टी सेवादार के नाम कर गए भय्यूजी महाराज!

इंदौर। संत भय्यू जी महाराज द्वारा की गई खुदकुशी किसी के गले नही उतर रही हर कोई बस ये चर्चा कर रहा आखिर इतने शांत व सौम्य संत ने ऐसा कदम क्यों उठाया। हालांकि उनके सुसाइड नोट के पहले पन्ने पर तनाव की वजह से जान देने का जिक्र किया गया था | वही अब सुसाइड नोट का दूसरा पन्ना भी सामने आया है जिसमे उन्होंने आश्रम और वित्तीय शक्तियों की जिम्मेदारी उनके सेवादार विनायक को सौंपने की बात लिखी है।  सुसाइड में भय्यूजी महाराज ने लिखा कि मैं विनायक पर ट्रस्‍ट करता हूं इसलिए उसे ये सारी जिम्‍मेदारी दे कर जा रहा हूं

सुसाइड नोट में ये साफ लिखा है कि उनकी वित्तीय शक्तियों की जिम्मेदारी उनके वफादार सेवादार विनायक ही उठाएंगे। दरअसल, इन बातों का खुलासा उस समय हुआ जब पुलिस ने भय्यूजी महाराज के बंगले की तलाशी ली और पुलिस को सुसाइड नोट मिले। आपको बता दे कि संत भय्यू जी महाराज का अचानक खुदकुशी कर लेना एक बड़ा सवाल बन गया है वही दूसरी सुसाइड नोट के दूसरे पन्ने के मिलने के बाद तो सवालो का एक घेरा खड़ा हो चुका जिसकी जांच पुलिस को करनी है जो एक बड़ी चुनौती से कम नही होगा। हालांकि इस दुसरे पन्ने पर सवाल भी खड़े हो रहे हैं, क्यूंकि इसमें हस्ताक्षर नहीं है| इससे पहले पुलिस को मिले पहले सुसाइट नोट में लिखा गया, ‘पारिवारिक जिम्मेदारियां को संभालने के लिए किसी को वहां होना चाहिए. मैं बेहद परेशानी में हूं और तनाव के साथ जा रहा हूं.’



बेटी देखी मुखाग्नि 

भय्यूजी महाराज का आज अंतिम संस्कार होगा| उनकी चिता को बेटी कुहू मुखाग्नि देगी। पार्थिव देह को सूर्योदय आश्रम पर अंतिम दर्शन के लिए रखा गया है|  जहां पर बड़ी संख्या में उनके शिष्य उनके अंतिम दर्शनों के लिए पहुंच रहे हैं। सूर्योदय आश्रम से अंतिम यात्रा 2 बजे बाद प्रस्थान करेगी और भमोरी स्थित श्मशान घाट पर पहुंचेगी। भय्यू महाराज के अंतिम दर्शनों के लिए देश- विदेश खासकर महाराष्ट्र से बड़ी संख्या में भक्तों के पहुंच रहे हैं।


सुसाइड नोट का पहला पन्ना 


  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...