दिल्ली से भिंड पहुंचे शहीद जितेंद्र और रामकृष्ण के पार्थिव शरीर, थोड़ी देर मे किया जाएगा अंतिम संस्कार

भिंड़

छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में नक्सली हमले में शहीद हुए रामकिशन सिंह तोमर और जितेंद्र सिंह का पार्थिव शरीर हेलिकॉप्टर से दिल्ली से भिण्ड लाया जा चुका है।मुरैना के कलेक्टर भी यहां पहुंचे हैं और शहीदों को श्रद्धांजलि देने के बाद उन्हें घर भेजा जाएगा। जिसके बाद शहीद रामकृष्ण की देह को मुरैना के लिए रवाना किया जाएगा।  जहां गृह गांव पोरसा के तरसमा में उनका अंतिम संस्कार  किया जाएगा।इसके लिए गांव तरसमा में शहीद के अंतिम संस्कार की तैयारियां पहले से ही शुरु कर दी गई है। कुछ ही घंटों में शहीद को अंतिम विदाई दी जाएगी। खबर के बाद से ही परिजनों औऱ गांव में शोक लहर है।

वही जीतेन्द्र के पार्थिव शरीर को अपने परिजनों को सौंपा जाएगा, जहां राजकीय सम्मान के साथ उन्हें अंतिम विदाई दी जाएगी।इस मौके पर सीआरपीएफ के आईजी सहित अनेक अधिकारी हैलीपेड पर मौजूद रहे।

बता दे कि मंगलवार को नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में नक्सलवादियों द्वारा एक बारूदी सुरंग में विस्फोट करने से सीआरपीएफ के 9 जवान शहीद हो गए थे। जिसमें दो अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए थे। इस घटना में नक्सलियों ने सुरक्षा बलों के एंटी लैंडमाइन वाहन को अपना निशाना बनाया था | सुकमा के कासरम और पलोदी के पास बीडब्ल्यू कोबरा, सीआरपीएफ 212, एसटीएफ और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई, इस मुठभेड़ में नक्सलियों की ओर से आईईडी ब्लास्ट किया गया।  इस घटना में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 9 जवान शहीद हो गए। शहीद जवानों में मध्यप्रदेश के भी दो जवान शामिल हैं। इस नक्सली हमले में मुरैना जिले में रहने वाले सीआरपीएफ के एएसआई रामकृष्णा सिंह तोमर और भिंड जिले में कांस्टेबल जितेंद्र सिंह भी शहीद हो गए थे।


"To get the latest news update download tha app"