दोबारा होगी 'व्यापमं' की जांच, मंत्री बोले-कई नेता-अधिकारी होंगे सलाखों के पीछे

भोपाल| मध्य प्रदेश के दामन पर काल दाग बना व्यापमं घोटाले की परतें एक बार फिर खुलेंगी| प्रदेश की कमलनाथ सरकार नए सिरे से घोटाले की जांच कराने जा रही है|  वहीं जांच से पहले ही वार पलटवार का दौर शुरू हो गया है| एक तरफ जहां कांग्रेस के मंत्री दावा कर रहे हैं कि, व्यापमं घोटाले की दोबारा जांच में कई राजनेता और अधिकारी बेनकाब होंगे तो वहीं बीजेपी नेताओं का कहना है कि कोई भी जांच कराले हम स्वागत करेंगे, लेकिन कहीं कुछ निकलेगा नहीं| 

व्यापमं में हुई गड़बड़ियों का जिस गुमनाम चिट्ठी के आधार पर खुलासा होने का दावा किया गया था, वो चिट्ठी सरकार के पास उपलब्ध नहीं है| जबकि पहले पूर्व की सरकार इस चिट्ठी के होने के दावे के साथ ही विधानसभा में इसका जिक्र कर चुकी है| जिसको लेकर अब गुमनाम चिट्ठी एक पहली बन गई है| इसी के साथ एक बार फिर व्यापमं का मामला गरमा गया है| मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने बयान दिया है कि व्यापमं घोटाले की दोबारा जांच होगी | वहीं उन्होंने दावा किया है कि तत्कालीन सरकार के पूर्व मुख्यमंत्री समेत उनकी पत्नी घोटाले में शामिल हैं|  मुख्यमंत्री और उनकी पत्नी पर आंच न आये तो एक मंत्री को हटा दिया गया था। वहीं दिग्विजय सिंह के पत्र का जिक्र करते हुए कहा  कई बच्चों का भविष्य बर्बाद हुआ है 54 लोगों की मौत हुई है। कई बेगुनाह लोग जेल में बंद है। एजेंसियों ने सही तरीके से जांच नही की है। अब जांच होगी तो कई राजनीतिक लोग और अधिकारी जेल की सलाखों के पीछे होंगे।

शिवराज बोले चिट्ठी में न उलझे सरकार जांच कराये

मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि सरकार व्यापमं घोटाले की जांच करेगी| तत्कालीन सरकार की ऊपर से लेकर नीचे की जड़ो का जाँच में खुलासा होगा| वहीं  पंचायत मंत्री कमलेश्वर पटेल ने कहा व्यापमं घोटाले की जांच को लेकर हमारी सरकार शख्त है, कई निर्दोष इसमें फंसे है| वहीं व्यापम की गुमनाम चिट्ठी को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपने बयान पर कायम हैं| उन्होंने कहा- चिट्ठी के आधार पर ही व्यापम मामले की जांच कराई गई थी। जैसे ही पत्र के जरिये जानकारी मिली उसी आधार पर जांच कराई गई , कई बार चिट्ठी को लेकर जानकारी दी जा चुकी है। परिवार पर लगे आरोप पर शिवराज ने कहा जो करना है करे सरकार, खुली छूट है, चिट्ठी में न उलझे सरकार जांच कराये| 

नरोत्तम बोले कांग्रेस मुद्दा उठती है लेकिन जांच नहीं कराती 

व्यापमं घोटाले की जांच दोबारा कराए जाने के मामले पर पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्र का कहना है कि कांग्रेस सरकार सात महीनों से क्या कर रही थी| जंहा जिससे जांच करानी हो उससे जांच करा लें| व्यापमं मामले से जुड़े पत्र नही मिलने पर पूर्व मंत्री नरोत्तम ने कहा सरकार इनकी है पत्र नही मिल रहा तो जांच कराए| कांग्रेस मुद्दा उठाती है, लेकिन जाँच नही करवाती| 

"To get the latest news update download the app"