पानी नहीं मिलने से गुस्साए लोग, पार्षद का घेराव कर की अभद्रता

जबलपुर।  परिसीमन के बाद नगर निगम में शामिल हुए नए वार्ड पाँच साल बाद भी परेशानी का दंश झेल रहे है। पानी हो या मकान या फिर सफाई टेक्स देने के बाद भी नए वार्डो में समस्या जस की तस बनी हुई है। कई नए वार्डो में तो विवाद तक कि स्थिति बन रही है। ताजा मामला परिसीमन के बाद नए वार्ड में शामिल हुए लाला लाजपतराय वार्ड का है। जहाँ पानी की समस्या को लेकर वार्डवासियों ने पार्षद डीपी कुमरे को घेर लिया। इतना ही नही पानी को लेकर आक्रोशित महिलाओं ने उनसे अभद्रता भी की।

लोगों का आरोप है कि समय पर टैक्स देने के बाद भी पिछले पाँच सालों से पानी को लेकर परेशान होना पड़ रहा है।आज पार्षद कुमरे को सूचना मिली कि इंद्रा आवास कालोनी में राइजिंग लाइन से पाइप लाइन जोड़कर कनेक्शन किया जा रहा है जिसको देखने जब वो वहा पहुँचे तो वार्डवासियों का गुस्सा उन्हें झेलना पड़ा।पार्षद जहा राइजिंग लाइन में हो रहे कनेक्शन का विरोध कर रहे थे तो वही इंद्रा आवास कालोनी के लोग कनेक्शन को लेकर अड़े थे।पार्षद ओर लोगो का विवाद होते देख रांझी थाना पुलिस भी मौके पर पहुँच गई।लोगो का कहना था कि नगर निगम के अधिकारी और पार्षद रुपये लेकर अवैध कनेक्शन करवा रहे है जिसके चलते हम लोगो को पानी नही मिल रहा है वही हो रहे नल  कनेक्शन को लेकर वार्डवासियों ने अपने पास निगम की अनुमति बताई है।इधर पार्षद डीपी कुमरे ने नगर निगम के उपयंत्री राजेन्द्र पटेल पर आरोप लगाए है कि वो आफिस में बैठकर ही नलों के कनेक्शन को लेकर अनुमति दे रहे है।फिलहाल पार्षद ने उपयंत्री राजेन्द्र पटेल और जल प्रभारी पुरुषोत्तम तिवारी की महापौर ओर कमिश्नर से शिकायत करने की बात कही है।हम आपको बता दे कि नगर निगम में पदस्थ कार्यपालन यंत्री पुरुषोत्तम तिवारी वही अधिकारी है जिसको लेकर भरे सदन में महापौर स्वाति गोडबोले ने कहा था कि ये अधिकारी जब मेरी बातें नही सुनता ही तो पार्षदों की तो बात ही अलग है।

"To get the latest news update download the app"