संतोष चौबे डॉ. सीवी रामन विश्वविद्यालय खंडवा के पहले कुलपति नियुक्त

खंडवा। सुशील विधानी| आईसेक्ट के महानिदेशक संतोष चौबे को मध्यप्रदेश की महामहिम राज्यपाल सुश्री आनंदी बेन पटेल के अनुमोदन के बाद निमाड़ क्षेत्र के पहले निजी विश्वविद्यालय डॉ. सीवी रामन विश्वविद्यालय का कुलपति नियुक्त किया गया है। प्रख्यात साहित्यकार, विज्ञान लेखक एवं शिक्षाविद् संतोष चौबे वर्तमान में आईसेक्ट के महानिदेशक हैं और ग्रामीण भारत में सूचना प्रौद्योगिकी तथा कौशल आधारित शिक्षा एवं सेवाओं के अग्रणी उद्यमी के रूप में जाने जाते हैं। श्री चौबे मौलाना आजाद कॉलेज ऑफ  टेक्नोलॉजी से इलेक्ट्रॉनिक्स में बी.ई. करने के बाद 1977 में भारतीय इंजीनियरिंग सेवा तथा 1982 में भारतीय प्रशासनिक सेवाओं के लिए चयनित हो चुके हैं। वर्ष 1985 से वे आईसेक्ट के संस्थापक के रूप में काम करते रहे हैं। देश में सूचना प्रौद्यौगिकी के शिक्षण एवं प्रशिक्षण में श्री चौबे का महत्वपूर्ण स्थान है। उन्हें राष्ट्रपति डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम द्वारा इंडियन इनोवेशन अवॉर्ड तथा नैसकॉम आईटी इनोवेशन अवॉर्ड, नैसकॉम इमर्ज 50 लीडर पुरस्कार, टाई ल्यूमिस इंटरप्रेनियरशिप अवॉर्ड, श्वॉब फाउंडेशन सोशल इंटरप्रेनेयोर ऑफ  द ईयर अवॉर्ड, मंथन साउथ एशिया एंड एशिया पेसेेफिक अवॉर्ड, टाई ल्यूमिस इंटरप्रेनियरशिप अवॉर्ड, स्कॉच कारर्पोरेट लीडरशिप अवॉर्ड से भी नवाजा गया है। 

श्री चौबे कवि, कहानीकार एवं आलोचक के रूप में भी जाने जाते हैं। साहित्यिक क्षेत्र में अपने योगदान के लिये उन्हें प्रतिष्ठित डॉ. शंकरदयाल शर्मा पुरूस्कार, मेघनाद साहा पुरस्कार, शैलेश मटियानी पुरस्कार तथा अंतर्राष्ट्रीय वैली ऑफ  वडर््स पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका हैं। श्री चौबे 30 वर्षों से प्रकाशित हो रही हिन्दी की इलेक्ट्रॉनिक्स, कम्प्यूटर विज्ञान एवं नई तकनीक की पत्रिका ''इलेक्ट्रॉनिकी आपके लिये'' के संपादक भी है। वे मध्यप्रदेश एवं भारत सरकार के प्रतिनिधि मंडलों के सदस्य रहे हैं तथा देश-विदेश में प्रतिनिधित्व करते रहे हैं। 

श्री चौबे के नेतृत्व में मध्य भारत के पहले निजी विश्वविद्यालय डॉ. सी.वी. रामन विश्वविद्यालय बिलासपुर, (छत्तीसगढ)़, आईसेक्ट विश्वविद्यालय भोपाल (मध्यप्रदेश), आईसेक्ट विश्वविद्यालय, हजारीबाग (झारखंड), डॉ. सी.वी. रामन विश्वविद्यालय वैशाली, पटना (बिहार) सफलतापूर्वक संचालित किये जा रहे हैं। नवस्थापित डॉ. सी.वी. रामन विश्वविद्यालय खंडवा में संस्था का पांचवा विश्वविद्यालय होगा। खंडवा में विश्वविद्यालय की स्थापना का उद्देश्य विद्यार्थियों को सक्षम, प्रेरित व जिम्मेदार व्यक्तित्व के रूप में परिवर्तित कर रोजगारपरक शिक्षा देना है। उल्लेखनीय है कि आईसेक्ट वर्तमान में शिक्षा, कौशल विकास, प्रशिक्षण सेवाओं एवं ई.गवर्नेंस के देश के सबसे बड़े नेटवर्क के रूप में 29 प्रदेशों एवं 3 केन्द्र शासित प्रदेशों में 20,000 केन्द्रों के माध्यम से कार्य कर रहा है।