कांग्रेस की चौथी लिस्ट में सीएम शिवराज के साले को मिला टिकट

भोपाल/बालाघाट। मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने बुधवार देर शात 29 उम्मीदवारों की चौथी सूची जारी की। वारासिवनी से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के साले संजय सिंह मसानी को टिकट दिया गया है। कांग्रेस ने पहली सूची में 155 और दूसरी सूची में 16 प्रत्याशियों के नाम का ऐलान किया था। तीसरी सूची में 13 उम्मीदवारों की घोषणा की थी। इस तरह पार्टी अब तक 213 नाम तय कर चुकी है। राज्य में 28 नवंबर को मतदान होना है, जबकि 11 दिसंबर को परिणाम आएंगे।

एमपी प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ की मौजूदगी में मुख्यमंत्री शिवराज सिंज चौहान के साले और साधना सिंह के भाई  संजय सिंह मसानी ने तीन नवंबर को कांग्रेस का दामन थामा था। संजय सिंह कई बार पहले भी सुर्खियों में आ चुके हैं। वो गोंदिया, महाराष्ट्र के रहने वाले हैं। इस मौके पर संजय ने कहा कि भाजपा को 14 साल हो गए है, ये बहुत है अब प्रदेश को शिवराज की नहीं कमलनाथ यानि नाथ की जरूरत है। प्रदेश में कामदारों को अलग और नामदारों को आगे बढ़ाया जा रहा है। उम्मीद है कमलनाथ जी ने जैसे छिंदवाड़ा का विकास मॉडल दिया उसी तरह वे मध्यप्रदेश में विकास को आगे  बढ़ाएगं।

संजय सिंह मसानी बालाघाट की वारासिवनी सीट पर रुचि दिखाई है। वो इस सीट पर एक्टिव भी हुए और जनता के बीच भी गए हैं। मध्यप्रदेश में कमलनाथ के बाद संजय सिंह ही हैं जो मूलत: कारोबारी हैं और राजनीति भी करना चाहते हैं। संजय सिंह की बॉलीवुड में अच्छी पकड़ है। देश के कई उद्योगपति घरानों से संजय सिंह के अच्छे संबंध हैं।

वारासिवनी विधानसभा की स्थिति

मध्यप्रदेश की वारासिवनी विधानसभा सीट बालाघाट जिले में आती है. यह इलाका सुगंधित चावल उत्पादन के लिए मशहूर हैं. यहां 1 लाख 87 हजार 65 कुल मतदाता हैं जिनमें पुरुष मतदाता 93 हजार 844, महिला मतदाता 93 हजार 221 हैं. फिलहाल इस सीट पर भाजपा का कब्जा है और योगेंद्र निर्मल भगवा पार्टी के विधायक हैं।

एक समय था जब वारासिवनी कांग्रेस का गढ़ था, लेकिन आज इस विधानसभा सीट पर भाजपा का कब्जा है। वैसे तो विधानसभा के चुनावी समर में सीधा मुकाबला कांग्रेस और भाजपा में होता है, लेकिन बसपा अपनी चुनौती पेश करती आ रही है। शायद यही वजह है कि भाजपा हो या फिर कांग्रेस दोनों ऐसे चेहरे की तालाश में थे जिससे जीत पक्की हो सके।