कांग्रेस प्रत्याशी आरिफ अकील ने दाखिल किया नामांकन, चुनाव लड़ने की यह है रणनीति

भोपाल। राजधानी भोपाल की उत्तर विधानसभा कांग्रेस का गढ़ है। इस सीट से लगातार कांग्रेस के कद्दावर नेता और वर्तमान विधायक आरिफ अकील जीत रहे हैं। इस बार फिर कांग्रेस ने उन्हें टिकट देकर उनपर भरोसा जताया है। शुक्रवार को अकील ने कलेक्टर कार्यालय पहुंच कर नामांकन दाखिल किया। इस दौरान उनके साथ हजारों की संख्या में समर्थक मौजूद रहे है। अकील अपनी सादगी के लिए चर्चित हैं। वह जमीन से जुड़े नेताओं में गिने जाते हैं। 

वर्तमान में शहर के दूसरे प्रत्याशी स्वागत-सम्मान और सडक़ों पर जनसंपर्क में व्यस्त हैं, जबकि अकील का जनसंपर्क पूरा हो चुका है। बल्कि उनकी कोर कमेटी मतदाता सूची को छांटकर पन्ना प्रभारियों को नियुक्त कर रही है। यानि श्री अकील सिर्फ मतदान का इंतजार कर रहे हैं।  शहर की उत्तर विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी आरिफ अकील का यह 6वां चुनाव है। हर बार की तरह उनके चुनाव में कोई शोर-शराबा नजर नहीं आ रहा। बल्कि मतदाता खुद चुनाव लड़ते नजर आ रहे हैं। जब पूरे इलाके में राजनीति समीकरणों का जायजा लिया गया तो पता चला कि इस बार चुनाव नई रणनीति के तहत लड़ा जा रहा है। उनकी कोर कमेटी के मेंबर अब्दुल शफीक खान सहित शाहिद अली और अकील के छोटे भाई आमिर अकील पूरे चुनाव का मेनेजमेंट संभाल रहे हैं। जबकि दूसरे मेंबर अपने-अपने कामों में व्यस्त हैं। वहीं सादे अंदाज में रहने वाले आरिफ अकील मतदाताओं से सीधे मुलाकात करते नजर आए।

पन्ना प्रभारी संभालेंगे बूथ मैनेजमेंट

अब तक आपने सेक्टर प्रभारी, बूथ प्रभारी जैसे नाम सुनेंगे होंगे, लेकिन आरिफ अकील की टीम पन्ना प्रभारी है। यानि मतदाता सूची के हर पेज का एक प्रभारी, जो शायद कोई दूसरा प्रत्याशी इतनी बड़ी टीम नहीं जुटा सकता। यह पन्ना प्रभारी पूरा बूथ मेनेजमेंट संभालते हैं। वहीं अकील के चुनाव की एक खासिअत यह भी है कि यहां कोई स्टार प्रचारक नहीं आता, बल्कि खुद ही अकील स्टार प्रचारक हैं।