शराब की अवैध तस्करी करते हुए पकड़े गए भाजपा नेता, पार्टी ने किया निष्कासित

सिवनी।

मध्यप्रदेश के सिवनी जिले में शराब की अवैध तस्करी मामले में भाजपा नेता को पार्टी ने निष्कासित कर दिया है। बीते दिनों ही पुलिस ने  शराब की अवैध तस्करी करते हुए भाजपा नेता और अनूसूचित जाति प्रकोष्ठ के नगर अध्यक्ष कमल माना ठाकुर और उनके दो साथियों को रंगेहाथों गिरफ्तार किया था। यह पूरी कार्रवाई अनुसूचित जाति मोर्चा के जिलाध्यक्ष भीम रहरिया द्वारा की गई है ।मामला कोतवाली थाने का है। घटना के बाद से ही राजनैतिक सरगर्मियां तेज हो चली थी। विपक्ष ने भी सत्तापक्ष पर सवाल खड़े करना शुरु कर दिया था।

दरअसल, 27 फरवरी को कोतवाली पुलिस को मुखबिर से शराब की अवैध तस्करी की सूचना मिली थी। जिस पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए चेकिंग के दौरान भाजपा नेता की गाड़ी से भारी मात्रा में अंग्रेजी और देशी शराब जब्त की गई थी। इसके साथ ही दो आरोपियों को शराब की तस्करी करते हुए रंगेहाथों पकड़ा गया था। मामला सामने आने के बाद से ही राजनीतिक गलियारों में माहौल गर्म हो गया था।  विपक्षी भाजपा नेता के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग पर अड़ गया था, लेकिन भाजपा ने चुप्पी साध रखी थी और वो कुछ भी कहने से बच रहे हैं। इसके बाद बढ़ते राजनैतिक दबाव के चलते अनुसूचित जाति मोर्चा के जिलाध्यक्ष भीम रहरिया ने कार्रवाई की और अध्यक्ष कमल माना ठाकुर को पद के दायित्व से मुक्त कर पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निष्कासित कर दिया । इसके साथ ही भाजपा जिला अध्यक्ष राकेश पाल सिंह द्वारा कमल माना ठाकुर के भाजपा की प्राथमिक सदस्यता से निष्कासन की घोषणा की गई है।

बता दें कि विधानसभा में बजट सत्र के पहले दिन राज्यपाल के अभिभाषण में मप्र में शराब का जिक्र आया था और राज्यपाल ने तारीफ की थी कि मप्र में पिछले 6 साल में शराब की एक भी नई दुकान नहीं खुली है ।