दिव्यांग से घूस मांगने वाला डॉक्टर स्वास्थ्य मंत्री के प्रभार वाले जिले का सीएमएचओ

भोपाल। मप्र सरकार की जीरो टॉलरेंस की नीति सिर्फ कागजों और भाषणों तक है। जबकि जमीनी हकीकत यह है कि भ्रष्ट नौकरशाह  सरकार के चहेते अफसर बन गए हैं। स्वास्थ्य विभाग ने जीरो टॉलरेंस की तमाम दलीलों को दरकिनार कर ऐसे डॉक्टर अर्जुन लाल शर्मा को स्वास्थ्य मंत्री  रुस्तम सिंह के प्रभार वाले जिले शिवपुरी का चिकित्सा अधिकारी बनाया है, जिस पर दिव्यांग से 5 हजार की घूस लेने का आरोप है। लोकायुक्त ने डॉक्टर अर्जुन लाल शर्मा के खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला भी दर्ज किया है। 

स्वास्थ्य विभाग ने भ्रष्टाचार के मामले में लोकायुक्त जांच में दोषी पाए गए डॉक्टर अर्जुन लाल शर्मा को शिबपुरी जिले का प्रभारी जिला स्वास्थ्य अधिकारी बनाया गया है । डॉक्टर अर्जुन लाल को विकलांग प्रमाण पत्र बनाने के नाम  पांच हजार की रिस्वत मांगे जाने के मामले में लोकायुक्त पुलिस ने आरोपी बनाया था। लोकायुक्त ग्वालियर पुलिस इंस्पेक्टर कवींद्र चौहान के अनुसार डॉक्टर अर्जुन लाल शर्मा जांच में दोषी पाए गए हंै और लोकायुक्त ने शासन से डॉक्टर के खिलाफ  चालान पेश करने की अनुमति मांगी है । अर्जुनलाल शर्मा पर अपराध क्रमांक 68/17 एवं धारा 7 भरस्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज है । खास बात यह है कि शर्मा को शिवपुरी जिले का स्वास्थ्य अधिकारी स्वास्थ्य मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री रुस्तम सिंह की सहमति से ही बनाया गया है।

"To get the latest news update download tha app"