Breaking News
अधिकारी की कलेक्टर को नसीहत, 'आपकी कार्यशैली पर लज्जा आती है, तबादला करा लें' | दागियों का कटेगा टिकट, साफ-सुथरी छवि के नेताओं को चुनाव में उतारेगी भाजपा | फ्लॉप रहा कांग्रेस का 'घर वापसी' अभियान, सिर्फ कार्यकर्ता लौटे, नेताओं ने बनाई दूरी | शिवराज कैबिनेट की बैठक ख़त्म, इन प्रस्तावों पर लगी मुहर | सीएम चेहरे को लेकर सोशल मीडिया पर जंग, दिग्विजय भड़के | मुख्यमंत्री के काफिले पर पथराव, महिदपुर- नागदा के बीच की घटना, पुलिस वाहन के कांच फूटे | अब भोपाल में राहुल ने फिर मारी आंख, वीडियो वायरल | एमपी की 148 सीटों पर खतरा, बिगड़ सकता है बीजेपी का चुनावी गणित | LIVE: ऊपर से टपकने वाले को नहीं मिलेगा टिकट : राहुल गांधी | राहुल की सभा में उठी सिंधिया को सीएम कैंडिडेट घोषित करने की मांग |

मोदी सरकार की उपलब्धियां गिनाने पहुंचे मंत्री जी को नही पता - उज्जवला में कितनों को मिले गैस कनेक्शन

शिवपुरी। 

मोदी सरकार को देश पर राज करते हुए चार साल बीत चुके है।चुनावी साल में भाजपा नेता-मंत्री मोदी सरकार की उपलब्धियां गिनाने में लगे हुए है।लेकिन गिनाने के चक्कर में मीडिया के सवालों में उलझते हुए नजर आ रहे है और सरकार की किरकिरी कराए हुए है। ऐसा ही एक मामला शिवपुरी से सामने आया है। यहां पीएम मोदी की चार साल की उपलब्धि गिनाने आए प्रभारी मंत्री रूस्तम सिंह से जब पूछा गया कि प्रदेश में अबतक कितने लोगों को उज्जवला योजना से गैस कनेक्शन मिले तो मंत्री जी जवाब नही दे पाए और बात को टाल गए।

दरअसल,लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री एवं जिले के प्रभारी रुस्तम सिंह रविवार को शिवपुरी जिले के एक दिवसीय प्रवास पर पहुंचे ।इसके बाद सर्किट हाउस में प्रधानमंत्री के चार साल पूर्ण होने को लेकर मीडिया से रूबरू हुए। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री और शिवपुरी जिले के प्रभारी मंत्री रूस्तम सिंह रविवार को जब पीएम नरेंद्र मोदी के चार साल की उपलब्धियां गिनाने के लिए मीडियाकर्मियों के सामने आए तो वह यह तक नहीं बता पाए कि देश व प्रदेश में उज्जवला योजना के तहत कितने हितग्राहियों को गैस कनेक्शन दिए गए हैं। इतना ही नहीं जब पत्रकारों ने पूछा कि देश व प्रदेश छोड़िए आप तो शिवपुरी जिले के गैस कनेक्शनधारी लोगों की संख्या ही बता दीजिए। इस पर भी स्वास्थ्य मंत्री बगले छांकते नजर आए।इतना ही नही पत्रकारवार्ता में शिवपुरी में पानी, सड़क की हालत खराब रहने के प्रश्नों को भी मंत्री जी टालते नजर आए और वार्ता खत्म कर निकल गए। ऐसे में सवाल उठता है कि प्रदेश में एंटी इनकबेंसी की बात करने वाली भाजपा की कहां है जनता के बीच पकड़। 


  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...