बड़ा फैसला : इंदौर 17 अप्रैल तक के लिए लॉक, कलेक्टर ने कहा- करेंगे सख्ती

हालांकि लॉकडाउन के दौरान जरूरी वस्तुओं के लिए छूट प्रदान की जाएगी। वहीं सुबह 9:00 बजे तक सब्जी किराना दूध और राशन दुकानों पर छूट बनी रहेगी।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। मध्य प्रदेश (madhya pradesh) का इंदौर (indore) जिला एक बार फिर से कोरोना का हॉटस्पॉट (corona hotspot) बन गया है। लगातार बड़ी संख्या में संक्रमित मरीजों के मामले सामने आ रहे हैं। बीते 24 घंटे में 900 से अधिक संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई है। जिसके बाद एक बार फिर जिला क्राइसिस कमेटी (District Crisis Committees) की बैठक में सीएम शिवराज (CM Shvraj) ने बड़ा फैसला लिया है। दरअसल इंदौर में शुक्रवार तक लॉकडाउन (LOCKDOWN) बढ़ाया जा रहा है।

बता दें कि आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा जिला क्राइसिस कमेटी की बैठक आयोजित की गई। जिसमें इंदौर के प्रतिनिधियों द्वारा जिले में बड़े संक्रमण के मामले को देखते हुए आगामी शुक्रवार तक लॉकडाउन लगाने के सुझाव दिए गए थे। वही सीएम शिवराज ने इस बात पर सहमति जाहिर कर दी है।

Read More: Vaccine शाॅर्टेज : बिना वैक्सीन कैसे जीतेंगे कोरोना से जंग? जानें आपके राज्य का हाल

इस मामले में इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह का कहना है कि क्राइसिस कमेटी की बैठक में फैसला लिया जा चुका है। सीएम शिवराज और जनप्रतिनिधियों द्वारा इंदौर में लॉकडाउन लगाने पर सहमति दे दी गई है। कलेक्टर मनीष सिंह का कहना है कि सीएम शिवराज ने कहा कि जिले के हित में जो निर्णय लिया जाना चाहिए। जिसके बाद इस फैसले पर सहमति बनी है।हालांकि लॉकडाउन का स्वरूप कैसा होगा और यह कितने दिनों का होगा। इस पर आपदा प्रबंधन समूह द्वारा निर्णय लिया जाएगा।

इतना तय है कि इंदौर में शुक्रवार तक प्रतिबंध लगाए जाएंगे वहीं संक्रमण के चेन को रोकने के लिए कई कंटेनमेंट जोन भी बनाए गए हैं। जिसकी घोषणा इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह द्वारा की गई है। हालांकि लॉकडाउन के दौरान जरूरी वस्तुओं के लिए छूट प्रदान की जाएगी। वहीं सुबह 9:00 बजे तक सब्जी किराना दूध और राशन दुकानों पर छूट बनी रहेगी।