निकाय चुनाव से पहले संविदा और आउटसोर्स कर्मचारियों को दी गई बड़ी राहत

इस मामले में मंत्री द्वारा विभाग की अनुशंसा का अनुमोदन करने के आदेश जारी किए गए हैं।

संविदा

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में निकाय चुनाव (urabn body election) से पहले सहकारी केंद्रीय बैंक (Co-operative central bank) के संविदा कर्मचारियों (Contract employees) को बड़ी राहत दी गई। सरकार ने जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के सीबीएस (CBS) कार्य में लगे संविदा और आउटसोर्सेस कर्मचारियों की सेवा अवधि में वृद्धि की है। वहीं संविदा कर्मचारियों के नियमितीकरण पर भी नियम तैयार हो सकता है।

दरअसल सहकारिता मंत्री अरविंद भदौरिया के निर्देश पर जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के सीबीएस कर्मचारियों को राहत दी गई है। जहां उनकी सेवा अवधि में 6 महीने की वृद्धि की गई है। निश्चित ही इससे जिला सहकारी केंद्रीय बैंकों में संविदा और आउटसोर्सेस कर्मचारियों पर कंप्यूटर ऑपरेटर और एल 1 इंजीनियर को बड़ा लाभ मिला है।

इस मामले में संभागायुक्त ने निर्देश जारी करते हुए कहा है कि सीबीएस कार्य में रखे गए जिन कर्मचारियों की सेवा अवधि 28 फरवरी को समाप्त हो चुकी थी। ऐसे कर्मचारियों को प्रदेश के 20 सहकारी केंद्रीय बैंकों से प्राप्त परीक्षण के बाद उनकी सेवा अवधि को 6 महीने के लिए बढ़ा दिया गया है।

Read More: 24 घंटे में मिले 917 पॉजिटिव, बिगड़े हालात, लॉकडाउन को लेकर सीएम शिवराज का बड़ा बयान

वही आयुष राज्यमंत्री रामकिशोर कावरे ने प्रदेश के 136 आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी की परिवीक्षा अवधि को समाप्त कर दिया है। दरअसल प्रदेश के विभिन्न जिलों में पदस्थ इन सभी चिकित्सा अधिकारी के प्रशिक्षण सफलतापूर्वक पूर्ण कर लिया गया। अब इस मामले में मंत्री द्वारा विभाग की अनुशंसा का अनुमोदन करने के आदेश जारी किए गए हैं।

बता दें कि प्रदेश के हर विभाग के संविदा और आउटसोर्स कर्मचारियों द्वारा लगातार नियमितीकरण की मांग की जा रही है। उनकी मांग है कि हर साल संविदा कर्मचारियों को 10 महीने के बाद 2 महीने की अवकाश दे दिए जाते हैं। जिसका जल्द निस्तारण किया जाए। साथ ही उम्मीद जताई जा रही है कि जल्द ही इस मामले में नियम तय किए जाएंगे। वहीं राज्य शासन द्वारा लगातार संविदा कर्मचारियों के हित में बड़े फैसले लिए जा रहे हैं।