फोन पर मूवी देखते समय विज्ञापनों से परेशान, इन सिंपल स्टेप्स के साथ ऐसे ब्लॉक करें एड्स

टेक्नोलॉजी, डेस्क रिपोर्ट। आप अपने फोन पर ऑनलाइन (Online) कोई मूवी देख रहे हों या फिर इंटरनेट(Internet)  पर कुछ काम करने में व्यस्त हों, ऐसे में अचानक कोई विज्ञापन (Advertisement) आ जाए तो मजा खराब हो ही जाता है। ये समझ पाना भी आसान नहीं होता कि लगातार आ रहे इन विज्ञापनों से बचा कैसे जाए? खासतौर से गूगल क्रोम और मोजिला फायरफॉक्स जैसे ब्राउजर्स पर ज्यादा विज्ञापन नजर आते हैं।  आपको बता दें कि अब इन एड्स से छुटकारा पाना पहले से कहीं ज्यादा आसान हो गया है। आप बेहद आसानी से इन विज्ञापनों को ब्लॉक कर सकते हैं।  खास बात ये है कि बिना किसी थर्ड पार्टी एप की मदद के आप ये काम कर सकते हैं।

एड्स ब्लॉक करने के लिए आपको फोन में प्राइवेट डीएनएस सेटिंग ऑप्शन का उपयोग करना आना चाहिए, जिससे आप आसानी से विज्ञापनों को ब्लॉक कर सकते हैं। इसके लिए आपको बस कुछ स्टेप्स की एक्सरसाइस करनी होगी।

ये भी पढ़ें – महिलाओं ने की “महंगाई डायन” की पिटाई, गृहणियों ने निकाला अपना गुस्सा

पहली स्टेप

आपको सबसे पहले ये जानना है कि आपके फोन में प्राइवेट डीएनएस ऑप्शन है या नहीं। वैसे अब अधिकांश स्मार्टफोन में ये ऑप्शन उपलब्ध रहता है। नेटवर्क और कनेक्शन मैन्यू में या फिर ऐसे ही मिलते जुलते मैन्यू में आपको ये ऑप्शन मिल सकता है, अगर आप इस तरह ये ऑप्शन न तलाश पा रहे हों तो सर्च बार में नाम लिख कर इसे सर्च करें। इतनी कोशिशों के बावजूद अगर आपको प्राइवेट डीएनएस न मिल सके तो समझ लीजिए ये ट्रिक आपके काम की नहीं है। दरअसल ये ऑप्शन एंड्रॉयड फोन के नए वर्जन 9.0 पाई या फिर उससे ऊपर के वर्जन में ही उपलब्ध है। अगर आपके फोन में ये ऑप्शन उपलब्ध है तो आगे की स्टेप्स ऐसे फॉलो करें।

ये भी पढ़ें – इलाज के दौरान दिग्गज कांग्रेस नेता और पूर्व विधायक का निधन, विवेक तन्खा ने जताया शोक

दूसरी स्टेप

जैसे ही आप प्राइवेट डीएनएस फीचर को ओपन करेंगे आपको तीन अलग अलग ऑप्शन दिखाई देंगे। ये तीन ऑप्शन्स होंगे ऑफ, ऑटो और प्राइवेट डीएनएस प्रोवाइडर होस्टनेम आफको आखिरी ऑप्शन चुनना है।  इसमें अपना डीएनएस नेम लिखना है।

ये भी पढ़ें – बच्ची को जन्मदिन पर मिला ऐसा तोहफा, पूरे परिवार की आंखे हो गई नम

तीसरी स्टेप

अपने डीएनएस नेम लिखने वाली जगह पर आप टाइप करें dns.adguard.com. ये नाम आपको बिना किसी कोट के लिखना है। ये प्रक्रिया पूरी होते ही आपका फोन AdGuard के डीएनएस सर्वर का उपयोग शुरू कर देगा। जिसकी वजह से आपके फोन में एड्स आने बंद हो जाएंगे।

ये भी पढ़ें – अगर आप हैं WhatsApp यूजर्स तो ये खबर आपके काम की, Privacy पर आई नई अपडेट, जाने डिटेल्स

अब क्या होगा?

इस प्रक्रिया के पूरा होने के बाद आपको एड्स नहीं दिखेंगे लेकिन उनके लिए तय जगह पर खाली स्थान दिख सकता है।  ये भी ट्रिक स्पोटिफाय या यूट्यूब पर काम नहीं करेगी।  यहां आपको एड बराबर दिखते रहेंगे।  इसलिए अगर आप इस सेटिंग को डिसेबल करना चाहें तो आपको वापस प्राइवेट डीएनएस पर जाकर ऑफ का ऑप्शन चुनना है।