CBSE Board 12th Exam: 12वीं की परीक्षा भी रद्द, पीएम मोदी बोले- छात्रों की सुरक्षा पहली प्राथमिकता

पीएम मोदी ने छात्रों की सुरक्षा को देखते हुए CBSE परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला किया है।

new-education-policy

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। सीबीएसई (CBSE Student) और आईसीएसई (ICSE) छात्रों को लेकर बड़ी खबर मिल रही है। 10 वीं के बाद अब 12वी की सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड परीक्षाओं (CBSE Board 12th Exam) को रद्द कर दिया गया है। आज दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की अध्यक्षता हुई बैठक में यह फैसला लिया गया है।मीटिंग के दौरान प्रधानमंत्री ने कहा कि अभी छात्रों की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता में है। ऐसे माहौल में उन्हें परीक्षा का तनाव देना ठीक नहीं है। हम उनकी जान खतरे में नहीं डाल सकते।

यह भी पढ़े.. Employment: कैबिनेट के इस फैसले से खुलेंगे रोजगार के अवसर, डेवलपर्स खुद ला सकेंगे निवेशक

दरअसल, आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने परीक्षाओं को लेकर एक उच्च स्तरीय बैठक बुलाई थी, जिसमें सभी राज्यों के कैबिनेट मंत्रियों के साथ चर्चा की गई।बैठक में सभी संभावित विकल्पों और समाधानों के बारे में बताया गया है, लेकिन पीएम मोदी ने छात्रों की सुरक्षा को देखते हुए CBSE परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला किया है। हालांकि पीएम ने कहा कि पिछले साल की तरह, यदि कुछ छात्र परीक्षा देने की इच्छा रखते हैं, तो स्थिति अनुकूल होने पर सीबीएसई द्वारा उन्हें ऐसा विकल्प प्रदान किया जाएगा। इससे पहले केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निंशक परीक्षाओं को लेकर आज फैसला लेने वाले थे। लेकिन उनकी तबीयत बिगड़ गई। उन्हें दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया है।

यह भी पढ़े.. MP Weather Update : मप्र के 2 दर्जन से ज्यादा जिलों में बारिश के आसार, ओलावृष्टि की भी संभावना

इस फैसले से दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल (Delhi CM Arvind Kejriwal) ने खुशी जताई है।हालांकि दिल्ली की तरफ से परीक्षा को कैंसिल करने की मांग पहले से ही की जा रही थी। अब परीक्षा रद्द होने के बाद उन्होंने पीएम मोदी के इस फैसले पर खुशी ज़ाहिर की और कहा मुझे खुशी है कि 12वीं की परीक्षा रद्द कर दी गई है। हम सभी अपने बच्चों की सेहत को लेकर फिक्रमंद थे। ये बड़ी राहत है।केजरीवाल के अलावा भी कई और राज्यों के सीएम ने परीक्षा नहीं कराने की गुज़ारिश की थी। कांग्रेस भी लगातार 12वीं परीक्षा को रद्द करने की मांग करती रही है।इस बैठक में CBSE के चेयरमैन, शिक्षा मंत्रालय के सेक्रेटरी के अलावा केंद्रीय मंत्री अमित शाह, निर्मला सीतारमण, पीयूष गोयल, धर्मेंद्र प्रधान, राजनाथ सिंह और प्रकाश जावड़ेकर शामिल हुए।