नगर निगम मुख्यालय पहुंची EOW, रिश्वतकांड में पकड़े गए सिटी प्लानर से जुड़े दस्तावेज खंगाले

डीएसपी EOW लोकेंद्र तोमर ने जानकारी देते हुए बताया कि नगर निगम के कई मामले EOW में चल रहे हैं जिससे जुड़े दस्तावेजों की मांग कई बार पत्र लिखकर की जा चुकी है। इसके अलावा सिटी प्लानर प्रदीप वर्मा से जुड़े दस्तावेज भी पत्र लिखकर मांगे गए हैं। लेकिन निगम से फाइलें और अन्य जरूरी दस्तावेज नहीं मिल पाए थे। इसलिए आज टीम ने खुद निगम अधिकारियों से मिलकर दस्तावेज मांगे।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। पांच लाख रुपये की रिश्वत लेते पकड़े गए ग्वालियर नगर निगम के सिटी प्लानर प्रदीप वर्मा से जुड़े मामले के दस्तावेज जब्त करने EOW की टीम आज नगर निगम कार्यालय पहुंची। टीम ने निगम के वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात की और उनसे रिकॉर्ड तलब किया। EOW ने उसके यहाँ चल रहे अन्य मामलों का भी रिकॉर्ड निगम अफसरों से मांगा है। बताया जा रहा है कि EOW कि टीम कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज अपने साथ ले गई है।

डीएसपी EOW लोकेंद्र तोमर ने जानकारी देते हुए बताया कि नगर निगम के कई मामले EOW में चल रहे हैं जिससे जुड़े दस्तावेजों की मांग कई बार पत्र लिखकर की जा चुकी है। इसके अलावा सिटी प्लानर प्रदीप वर्मा से जुड़े दस्तावेज भी पत्र लिखकर मांगे गए हैं। लेकिन निगम से फाइलें और अन्य जरूरी दस्तावेज नहीं मिल पाए थे। इसलिए आज टीम ने खुद निगम अधिकारियों से मिलकर दस्तावेज मांगे।

ये भी पढ़े- Bribe: नहीं ली रीडिंग, थमाया 4317 यूनिट का बिल, मामला निपटाने मांगी 20,000 की रिश्वत, FIR

तोमर ने बताया कि प्रदीप वर्मा मामले की एक फाइल हमें कल मिली है हम प्रदीप वर्मा से संबंधित और फाइलें मांग रहे हैं। उन्होंने बताया कि प्रदीप वर्मा मामले में रिश्वत ट्रैप कांड और आय से अधिक संपत्ति के दोनों मामले साथ चल रहे हैं आज दोनों मामलों से जुड़ी फाइलें तलब की हैं। सूत्रों की माने तो EOW की टीम प्रदीप वर्मा की सर्विस बुक की फोटो कॉपी, प्रदीप वर्मा के ऑफिस की जरूरी फाइलें सहित अन्य कई महत्वपूर्ण कागजात लेकर गई है।

गौरतलब है कि नगर निगम के सिटी प्लानर प्रदीप वर्मा को EOW ने 28 नवंबर को बिल्डर धर्मेंद्र भारद्वाज से 5 लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया था। प्रदीप वर्मा ने धर्मेंद्र भारद्वाज से एक डुप्लेक्स के निर्माण की मंजूरी के लिए 50 लाख रुपये की रिश्वत मांगी थी। गिरफ्तार करने के साथ ही EOW ने प्रदीप वर्मा के विनय नगर स्थित घर पर भी छापा मारा था जहाँ नगर निगम की करीब 24 महत्वपूर्ण फाइलें, लेपटॉप, पांच पेन ड्राइव सहित अन्य दस्तावेज जब्त किये थे।