Shivraj Cabinet : राशन कालाबाजारी पर बोले शिवराज- जब तक वापस नहीं लेते, तब तक नहीं छोड़ते

साथ ही बजट सत्र में अध्यादेश के स्थान पर धार्मिक स्वतंत्रता सहित अन्य विधेयक की अनुमति भी दी जा सकती है।

Shivraj Cabinet

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में 22 फरवरी से बजट सत्र (budget session) शुरू होने वाला है। इससे पहले एक बार फिर शिवराज सरकार (shivraj government)  ने कैबिनेट मंत्रियों (cabinet ministers) की बैठक बुलाई गई । वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (video conferencing) के जरिए होने वाली इस बैठक में कई महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा जारी है।

दरअसल मंगलवार को 11:00 बजे शिवराज कैबिनेट की बैठक शुरू हुई। बैठक में सीएम शिवराज ने कहा कि मिलावट के मामले में हमने कार्रवाई की। पहली बार ऐसा हुआ कि राशन की कालाबाजारी करने वाले अफसर की संपत्ति नीलाम कर के वसूली की। हम सतही कार्रवाई नहीं कर रहे। हम अंत तक जब तक वापस नहीं ले लेते, तब तक नहीं छोड़ते।

इसके साथ ही सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि चिटफंड कंपनियां पैसा खाकर भाग जाती थीं, हमने तय किया कि उनकी संपत्ति कुर्क करके जिनका पैसा डूबा उन्हें वापस दिलाएं। हम 50 हजार लोगों को 800 करोड़ वापस करवा चुके हैं।

Read More: ओरछा पुलिस की बड़ी सफलता, साढ़े 4 किलो गांजा सहित एक आरोपी गिरफ्तार

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कैबिनेट बैठक के पूर्व संबोधन में कहा कि सरकार ने माफियाओं के खिलाफ प्रभावी अभियान छेड़ा है। इस अभियान की शुरूआत से अब तक लगभग 2 हजार हेक्टेयर जमीन 1200 भू-माफियाओं से मुक्त कराई। इसका उपयोग जनहित में किया जाएगा। कार्रवाई लगातार जारी है।

बता दें कि इससे पूर्व भी बैठक में पशुपालन और डेयरी विभाग को लेकर सरकार ने बड़ा फैसला लिया था। इसके साथ ही वन निधि प्रबंधन और योजना प्राधिकरण की स्थापना की भी मंजूरी दी गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here