MP Board: 10वीं और 12वीं परीक्षा में नहीं होंगे कोई बदलाव, शिक्षा विभाग ने दिए ये निर्देश

इसके साथ ही बोर्ड परीक्षा के लिए कई किए गए सभी बदलाव निरस्त कर दिए गए हैं।

mp board

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट मध्य प्रदेश 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षा (MP Board Exam) के परीक्षार्थियों के लिए बड़ी खबर है। दरअसल राज्य शासन द्वारा माध्यमिक शिक्षा मंडल (Board of Secondary Education) को बड़ा झटका दिया गया है। वही बोर्ड परीक्षा के लिए किए गए सभी बदलाव निरस्त कर दिए गए हैं। अब 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा पुराने पैटर्न (old pattern) पर आयोजित की जाएगी।

दरअसल स्कूल शिक्षा विभाग के मंत्री और अधिकारी मंडल द्वारा किए गए बदलाव से सहमत नहीं थे। जिसके बाद स्थिति को देखते हुए राज्य शासन ने विशेषाधिकार का प्रयोग करते हुए मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल अधिनियम की धारा-9 (Section 9 of Madhya Pradesh Board of Secondary Education Act)  का इस्तेमाल किया है। इसके साथ ही बोर्ड परीक्षा के लिए कई किए गए सभी बदलाव निरस्त कर दिए गए हैं।

इस मामले की सुनवाई करते हुए स्कूल शिक्षा विभाग (school education department) ने कहा कि कोरोना संक्रमण की वजह से स्कूल बंद थी। ऐसे में विद्यार्थियों की शैक्षणिक अवस्था प्रभावित हुई है। इसके साथ ही नियमित कक्षाएं भी आयोजित नहीं की गई है। जिससे विद्यार्थी स्कूल नहीं आ सके हैं। ऐसे में प्रश्न पत्र प्रिंट, ब्लू प्रिंट और मूल्यांकन पद्धति छात्र हित में नहीं है और ऐसे सभी नियमों को निरस्त किया जाता है।

Read More: सौगातों का शुक्रवार, मुख्यमंत्री करेंगे 366 करोड़ की 19 जल प्रदाय योजनाओं का लोकार्पण-भूमिपूजन

मंडल ने बोर्ड परीक्षा में किए थे बड़े बदलाव 

ज्ञात हो कि माध्यमिक शिक्षा मंडल ने 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा में बड़े बदलाव किए थे।इसके मुताबिक 10वीं और 12वीं के बोर्ड परीक्षा में प्रश्न संख्या बढ़ाई जा रही थी। विद्यार्थियों को अथवा के रूप में ऑप्शन दिया जा रहा था। लंबे जवाब वाले सवाल हटाकर ऑब्जेक्टिव टाइप सवाल शामिल किए गए थे। वहीं सभी विषयों में 30 30 ऑब्जेक्टिव के सवालों का प्रावधान किया गया था।इसके साथ ही परीक्षा का नया पैटर्न MPBSE पर अपलोड भी कर दिया गया था। जिसके बाद सरकार ने सभी बदलावों को रद्द कर दिया है। जिसके मुताबिक 1 साल में दो बार मुख्य परीक्षा आयोजित किया जाना था। वही कोई भी विद्यार्थी अपना संकाय बदल सकता था। दूसरी परीक्षा बोर्ड परीक्षा की तरह ही होनी थी और अंकसूची भी सामान्य दी जानी थी।

पुराने पैटर्न के तहत 10वीं और 12वीं की परीक्षा आयोजित 

वहीं अब पुराने पैटर्न के तहत 10वीं और 12वीं की परीक्षा आयोजित की जाएगी। जिसमें कुल अंक 100 नंबर के होंगे। जिसे वस्तुनिष्ठ प्रश्न 25 अंक के होंगे। इसके साथ ही 2 अंक के 5 प्रश्न, कुल 10 अंक अति लघु प्रश्न होंगे। वही लघु उत्तरीय प्रश्न 3 अंकों के 4 प्रश्न कुल 12 अंकों के होंगे। जबकि दीर्घ उत्तरीय प्रश्न 4 अंकों के 7 प्रश्न कुल 28 अंकों के होंगे। इसके अलावा 5 अंक के 5 प्रश्न, कुल 25 अंक के निबंधात्मक प्रश्न होंगे।