MP College : उच्च शिक्षा विभाग की बड़ी तैयारी, कॉलेजों का आधुनिकरण, छात्रों को मिलेगा लाभ

MP College: इसके अलावा नई पुस्तकें खरीदने, ऑनलाइन सिस्टम बनाना अनिवार्य किया जाएगा।

mp college

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश के सरकारी कॉलेजों (MP College) में अब छात्रों को अन्य सुविधाएं भी उपलब्ध होगी। दरअसल उच्च शिक्षा विभाग (higher education department) ने कॉलेजों को Library upgrade के लिए आवेदन बुलाए हैं। विभाग द्वारा कॉलेजों को आवेदन देने की अंतिम तारीख 25 अक्टूबर रखी गई है। मध्य प्रदेश सरकार (shivraj government) द्वारा सरकारी कॉलेज को साइंस (science) और कंप्यूटर (computer) लैब और लाइब्रेरी से लैस किया जाएगा। इसके लिए आदर्श उन्नयन योजना की शुरुआत की गई है।

इसके द्वारा सरकारी कॉलेज के साइंस और कंप्यूटर संकाय में लैब और लाइब्रेरी को सुदृढ़ करने की तैयारी की जा रही है। राज्य शासन द्वारा प्रत्येक कॉलेज को लैब और लाइब्रेरी से लैस करने के लिए राशि आवंटित की जाएगी। उच्च शिक्षा विभाग ने इसके लिए अंतिम तारीख के 25 अक्टूबर रखी है। वहीं अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि सभी कॉलेजों को हर 3 साल में lab और Library को अपग्रेड करना होगा। इसके अलावा नई पुस्तकें खरीदने, ऑनलाइन सिस्टम बनाना अनिवार्य किया जाएगा।

Read More: केंद्रीय विद्यालय में नमाज़ का मामला : MP प्रज्ञा ठाकुर ने कहा- बच्चियां असुरक्षित, प्रिंसिपल पर होगी कार्रवाई

एमपी कॉलेज में साइंस लैब में नए केमिकल उपकरण और कार्य कल अनिवार्य किए जाएंगे साथ ही लैब और लाइब्रेरी को हर सुविधा सहित जरूरी उपकरण उपलब्ध कराने अनिवार्य किए गए हैं। बता दे कि मध्य प्रदेश सरकार की अंग्रेजी स्कूल का प्रस्ताव लेकर प्रदेश के सरकारी स्कूलों को सूचित करने में लगी हुई है इसके अलावा मध्य प्रदेश के शासकीय कॉलेजों पर भी विकास कार्यों को लेकर ध्यान दिया जा रहा है।

कॉलेजों में आदर्श प्रयोगशाला उन्नयन योजना के तहत साइंस लैब और लाइब्रेरी की नई सुविधाएं उपलब्ध होंगी। इसके अलावा जरूरी चीजों के लिए कॉलेज को अपनी जरूरतउच्च शिक्षा विभाग को बतानी होगी। इसके लिए प्रत्येक कॉलेज को कम से कम 10 से 12 लाख रुपए उपलब्ध कराए जाएंगे। हालांकि पहले यह प्रस्ताव 12 अक्टूबर को बुलाए गए थे लेकिन प्रवेश प्रक्रिया में देरी की वजह से प्रस्ताव नहीं भेजे गए। जिसके बाद विभाग ने तारीख को आगे बढ़ा दिया है। शिक्षा विभाग ने स्कूलों को 25 अक्टूबर तक प्रस्तावित अगले महीने राशि आवंटित का कार्य शुरू किया जाएगा।