भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। पूरे देश के साथ मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में भी किसान आंदोलन (farmer protest) को लेकर हवा का रुख धीरे-धीरे बदलते जा रहे हैं। मध्य प्रदेश में जहां एक तरफ किसान आंदोलन को रोकने के लिए किसानों के हित में बड़े बड़े फैसले लिए जा रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ किसानों द्वारा मध्य प्रदेश में आंदोलन को तेज करने का विचार किया जा रहा है। इसी कड़ी में राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के प्रदेश अध्यक्ष राहुल राज (raul raj) ने राष्ट्रीय अध्यक्ष सरदार वीएम सिंह (vm singh) पर गंभीर आरोप लगाए। इसके साथ ही उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया।

दरअसल शुक्रवार को भोपाल में प्रेस वार्ता करते हुए राहुल राज ने राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीएम सिंह पर दिल्ली में चल रहे आंदोलन को कमजोर करने का आरोप लगाया है। राहुल राज ने कहा कि राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन का आंदोलन को वापस लेने का निर्णय दुर्भाग्यपूर्ण है। किसान मजदूर संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सरदार वीएम सिंह पर आरोप लगाते हुए राहुल राज ने कहा कि उन्होंने किसान हित के आगे स्वयं को देखा है। इसी के साथ उन्होंने कहा है मध्य प्रदेश 18 फरवरी को आंदोलन किया जाएगा। वहीं वह विदिशा में रेल रोको अभियान में शामिल भी होंगे।

Read More: कृषि मंत्री की चेतावनी- हड़ताली कर्मचारियों के होगी खिलाफ कड़ी कार्रवाई

बता दें कि संयुक्त राष्ट्र किसान मोर्चा ने देश में 18 फरवरी को दोपहर 12:00 बजे से 3:00 बजे तक ट्रेन रोको अभियान का आवाहन किया है। वहीं प्रदेश में इसकी जिम्मेदारी राहुल राज की है। इससे पहले उन्होंने राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के प्रदेशाध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वह अब संयुक्त किसान मोर्चा के सिपाही के रूप में कार्य करेंगे।

इतना ही नहीं राहुल राज ने कांग्रेस को चेतावनी देते हुए कहा कि वह किसान के खिलाफ हल्की की बयानबाजी बंद करें। उन्होंने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा की टीम में शामिल होकर कुछ लोग किसान नेता शिवकुमार के खिलाफ अभियान चला रहे हैं। जिसमें कांग्रेसी भी शामिल है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को यह बयानबाजी बंद करनी चाहिए। वरना मजबूरन कांग्रेस के खिलाफ भी आंदोलन किया जाएगा।