MP Weather: प्रदेश के कुछ हिस्सों में आज बारिश की संभावना, ठंड से बढ़ेगी ठिठुरन

राजस्थान और पश्चिम बंगाल में निम्न दबाव के क्षेत्र के बनने के कारण प्रदेश के कुछ हिस्सों में तापमान में नमी आ रही है। जिस कारण से ग्वालियर चंबल, नीमच, शहडोल, डिंडोरी, अनूपपुर, बालाघाट मंडला, उमरिया, शिवपुरी और जबलपुर सहित कुछ अन्य संभागों में बालों के साथ हल्की बारिश हो सकती है।

MP Weather

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में एक बार फिर से मौसम (weather) के करवट लेने की गतिविधि शुरू हो गई है। पश्चिमी विक्षोभ का प्रभाव से एक बार फिर उत्तर भारत में बर्फबारी शुरू हो गई है। वही बंगाल की खाड़ी में उठा तूफान निवार भी जल्दी कमजोर पड़ जाएगा। जिसके बाद ग्वालियर-चंबल, नीमच, जबलपुर और छत्तीसगढ़ में बारिश की संभावना जताई गई है।

मौसम विभाग की माने तो पश्चिम बंगाल में निम्न दबाव के क्षेत्र की वजह से और राजस्थान में बने चक्रवात के कारण अगले 24 घंटे में जबलपुर, ग्वालियर, चंबल और छत्तीसगढ़ से सटे मध्य प्रदेश के कुछ इलाकों में बारिश की संभावना जताई गई है। वहीं मध्यप्रदेश में निवार का खासा असर देखने को नहीं मिलेगा।

Read More: MP Weather Update : मप्र में दिख सकता है निवार का असर, इन जिलों में बारिश की संभावना

शुक्रवार को निवार के कमजोर पड़ने के बाद मध्य प्रदेश के मौसम में कुछ गर्माहट महसूस की जाएगी। तापमान में अधिकतम तापमान में कुछ डिग्री की बढ़ोतरी महसूस की जाएगी। वही भोपाल में भी बुधवार और गुरुवार की रात तापमान 0.3 डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी रिकॉर्ड की गई है। मौसम वैज्ञानिक की माने तो 28 नवंबर को एक और पश्चिमी विक्षोभ के बनने की वजह से प्रदेश में ठंड बढ़ेगी। कम दबाव के क्षेत्र में नमी बनने के कारण कुछ जगह पर हल्की बारिश भी हो सकती है।

मौसम विभाग ने संभावना जताई है कि राजस्थान और पश्चिम बंगाल में निम्न दबाव के क्षेत्र के बनने के कारण प्रदेश के कुछ हिस्सों में तापमान में नमी आ रही है। जिस कारण से ग्वालियर चंबल, नीमच, शहडोल, डिंडोरी, अनूपपुर, बालाघाट मंडला, उमरिया, शिवपुरी और जबलपुर सहित कुछ अन्य संभागों में बालों के साथ हल्की बारिश हो सकती है। वही हवा में थोड़ी ठिठुरन भी महसूस की जाएगी। जबकि राजधानी भोपाल में मौसम साफ रहेगा। वह इस महीने के अंत तक प्रदेश के कई हिस्सों में रात के तापमान में गिरावट देखने को मिलेगी। इसके साथ ही सर्द हवाओं से मौसम में ठंड घुलेगी।