रनों की आतिशबाजी के साथ ट्रॉफी पर पुलिस टीम का कब्जा, छतरपुर प्रेस की शिकस्त

छतरपुर, संजय अवस्थी। शहर के नौगांव रोड स्थित पेप्टेक टाउन में रविवार को खेले गए पुलिस और पत्रकारों के तीसरे मैत्री मुकाबले को भी पुलिस टीम ने शानदार अंदाज में अपने नाम करते हुए ट्रॉफी पर कब्जा कर लिया। कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह की अगुवाई में उतरी पुलिस टीम की ओर से हिनौता थाना प्रभारी अतुल दीक्षित ने 175 रन की शतकीय पारी खेलकर अपनी टीम को शानदार जीत दिलाई।

मुकाबले में पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा, एएसपी समीर सौरभ, सीएसपी लोकेन्द्र सिंह का शानदार भी प्रदर्शन रहा। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सागर रेंज के आईजी अनिल शर्मा रहे जिन्होंने विजेता और उपविजेता टीमों के साथ-साथ शानदार प्रदर्शन करने वाले खिलाडिय़ों को पुरस्कृत किया। खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाने के लिए पं. गणेश प्रसाद मिश्र न्यास के अध्यक्ष डॉ. राकेश मिश्र भी मैदान पर पहुंचे। सभी अतिथियों का स्वागत इस ट्रॉफी के आयोजक पेप्टेक ग्रुप के डायरेक्टर नीरज चौरसिया के द्वारा किया गया।

इस तरह रोमांचक दौर से गुजरा मुकाबला
सुबह 10 बजे पेप्टेक टाउन के मैदान पर पुलिस टीम की अगुवाई कर रहे कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया। पुलिस टीम की ओर से सलामी बल्लेबाज के रूप में उतरे पिछले मुकाबले के हीरो अवधेश एवं रूपेश इस बार 6 और 1 रन बनाकर ही चल दिए। पुलिस की टीम लडख़ड़ाने लगी लेकिन मैदान पर आए एएसपी समीर सौरभ और अतुल दीक्षित ने शानदार पारियां खेलते हुए टीम को विशाल स्कोर तक पहुंचाने की भूमिका तैयार की। एएसपी समीर सौरभ ने 24 रन एवं अतुल दीक्षित 20 छक्कों की मदद से 175 जड़ दिए। इसके बाद सीएसपी लोकेन्द्र सिंह ने भी 17 गेदों पर 31 और आशीष खरे ने 11 गेदों पर 22 रन की पारी खेलते हुए अपनी टीम को 20 ओवरों में 4 विकेट खोकर 269 रन के विशाल स्कोर तक पहुंचा दिया।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी पत्रकारों की टीम का शुरूआती प्रदर्शन ठीक रहा। सलामी बल्लेबाज छोटू खान ने 61 रन और सतेन्द्र सिंह ने 16 रनों का योगदान दिया। इसके बाद मैदान पर आए दीपक रैकवार सिर्फ 6 रन ही बना सके। एक बार फिर प्रेस टीम के इनफार्म बल्लेबाज अंकुर यादव ने पारी को संभाला और 36 गेदों पर 70 रनों का योगदान दिया लेकिन उनके आउट होने के बाद प्रेस टीम एक बार फिर ताश के पत्तों की तरह बिखरने लगी। भूपेन्द्र सिंह ने कुछ अच्छे शॉट खेलते हुए 30 रन, कप्तान विनय चौरसिया ने 6 रन, अभिषेक सिंह सेंगर ने 10 रन, रामेश्वर निरंजन ने 12 रन, मनोज सोनी ने नाबाद एक रन बनाया और इस तरह 20 ओवरों में छतरपुर प्रेस 7 विकेट खोकर 220 रन ही बना सकी।

इन्हें मिले शानदार खेल के पुरस्कार
तीन मैचों की इस सीरीज में शानदार प्रदर्शन करने के लिए खिलाड़ियों को पुरस्कृत किया गया। फाइनल के मैन ऑफ द मैच के साथ ही टूर्नामेंट के शानदार खिलाड़ी के रूप में अतुल दीक्षित को दो ट्रॉफियां मिलीं। अच्छे कैच के लिए पुलिस टीम के आशीष खरे और शानदार फील्डिंग के लिए प्रेस टीम के कप्तान विनय चौरसिया पुरस्कृत हुए। टूर्नामेंट के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज के रूप में अंकुर यादव को ट्रॉफी दी गई तो वहीं शानदार गेंदबाजी के लिए रामेश्वर निरंजन को ट्रॉफी मिली। मैच के अम्पायर महेन्द्र चौरसिया, अभिषेक दुबे, दीपक सोनी, मैच रैफरी सुनील चौरसिया, वीर अली, फिजियोथैरेपिस्ट अरूण गुप्ता, स्कोर मनीष और रोहन, कामेन्टे्रटर धीरज चौबे, अब्दुल जुनैद, शिवेन्द्र शुक्ला, मैच में सुरीले गीतों का तड़का लगाने वाले गायक खनिज देव चौहान भी अतिथियों से सम्मानित हुए। समाजसेवी गिरजा पाटकर ने सभी खिलाडिय़ों को उपहार भेंट किए तो वहीं कांग्रेस नेत्री सपना चौरसिया, स्मिता खरे, व्यापारी रणछोर चौरसिया, उमेश अग्रोहा, चन्द्रशेखर तिवारी, वरिष्ठ पत्रकार हरि अग्रवाल, रामबाबू सिंह परिहार, प्रेम गुप्ता ने रनों पर इनामी राशि भेंट की। कार्यक्रम का संचालन शिवेन्द्र शुक्ला ने किया।

अतिथियों ने आयोजन को सराहा
प्रतिवर्ष पुलिस और प्रेस की टीमों के बीच होने वाले क्रिकेट मुकाबले को इस वर्ष तीन मैचों की सीरीज के रूप में तब्दील किया गया था। रविवार को सीरीज का आखिरी मुकाबला जीतकर पुलिस टीम ने इस ट्रॉफी को क्लीन स्वीप कर दिया। मैदान पर खिलाडिय़ों को पुरस्कृत करने के बाद आईजी अनिल शर्मा ने कहा कि इस तरह के आयोजन समाज के लिए काम कर रहे पुलिसकर्मियों, प्रशासनिक अधिकारियों और पत्रकारों के बीच आपसी तालमेल को बढ़ाने का काम करते हैं। उन्होंने कहा कि मैच भले ही पत्रकारों की टीम हारी हो लेकिन उन्होंने अपने शानदार खेल की दम पर पुलिस टीम को हमेशा भयभीत रखा। यह एक अच्छे खेल की निशानी है। कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने कहा कि इस तरह का आयोजन लगातार काम के बीच कुछ राहत प्रदान करता है। उन्होंने कहा कि हम सभी लोग अपने-अपने क्षेत्रों में काम करते हुए जिले के विकास के लिए इसी तरह एकजुट हों तो सभी के प्रयास से जिले का विकास भी तेजी से होगा। पुलिस कप्तान सचिन शर्मा ने कहा कि खेल का नतीजा हार या जीत हो लेकिन इसका सबसे बड़ा नतीजा यह होता है कि हम अपने व्यक्तित्व के विकास को निरंतर आगे बढ़ाते हैं। इन तीन मैचों की सीरीज में भी यही देखने को मिला कि हम धीरे-धीरे अपने खेल को सुधारते रहे। उन्होंने टूर्नामेंट के शानदार आयोजन के लिए पेप्टेक गु्रप की भी सराहना की। मैदान पर खिलाडिय़ों का हौसला बढ़ाने आए डॉ. राकेश मिश्र ने भी इस आयोजन की सराहना करते हुए खेलों के प्रति जुड़ाव बनाए रखने की समाज से अपील की साथ ही 12 तारीख को आयोजित होने वाली बुन्देलखण्ड मैराथन में हिस्सा लेने के लिए भी खिलाडिय़ों का आह्वान किया।

ये रहे मौजूद
मुकाबले का आनंद लेने के लिए मैदान पर डॉ. राकेश मिश्रा, नरेन्द्र टिबलू मिश्रा, प्रवीण गुप्त, मंटू खरे, वरिष्ठ पत्रकार श्यामकिशोर, हरिप्रकाश अग्रवाल, सुरेन्द्र अग्रवाल, व्यवसायी उमेश अग्रोहा, भोले साहू, ब्रजेश अग्रवाल, पत्रकार देवेन्दरदीप सिंह राजू सरदार, एसडीएम प्रियांशी भंवर, तहसीलदार संजय शर्मा, कोतवाली टीआई अरविंद दांगी, सिविल लाइन टीआई जीतेन्द्र वर्मा, ओरछा रोड थाना प्रभारी माधवी अग्रिहोत्री, समाजसेवी गिरजा पाटकर, प्रदीप चौरसिया, अश्वनी शर्मा, सुनील उपाध्याय, नरेन्द्र सिंह परमार, दिलीप सोनी, रामबाबू सिंह परिहार, पे्रम गुप्ता, सुशील दुबे, लक्ष्मीकांत चतुर्वेदी, राजकुमार सोनी, लक्ष्मीनारायण शर्मा, राजकुमार बाजपेयी, विनोद अग्रवाल, लोकेश चौरसिया, लखन राजपूत, इम्तियाज खान, मुन्ना राजपूत, जावेद खान सहित शहर के अनेक गणमान्य नागरिक एवं पत्रकार मौजूद रहे।