मणिपुर। कोरोना संकटकाल (corona crisis) के बीच देश के अलग अलग राज्यों में सियासी घमासान जारी है।बीते महिनों मध्यप्रदेश(madhypradesh) में उठापटक हुई और कांग्रेस(congress) की सरकार गिर गई । अब मणिपुर में बीजेपी (bjp)की गठबंधन सरकार खतरे में आई गई है। यहां बीजेपी के तीन विधायकों(MLAs) ने बगावत करके इस्तीफा दे दिया है और कांग्रेस मे शामिल हो गए है।इतना ही नही सत्तारूढ़ दल नेशनल पीपुल्‍स पार्टी (NPP) के भी चार विधायकों ने मंत्रीपद छोड़ दिया है। इसके अलावा एक टीएमसी विधायक(TMC MLA) और एक निर्दलीय विधायक ने सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया है।इस सियासी संकट के बीच सीएम बिरेन सिंह (CM Biren Singh) की कुर्सी पर खतरा मंडरा रहा है। राज्‍य में राष्‍ट्रपति शासन (President’s Rule) लगाए जाने का फैसला भी हो सकता है, वहीं, कांग्रेस सरकार बनाने का दावा कर सकती है।

बीजेपी छोड़कर कांग्रेस में शामिल होने वाले तीनों विधायकों के नाम एस सुभाषचंद्र सिंह, टीटी हाओकिप और सैमुअल जेंदई हैं। इनके अलावा नेशनल पीपुल्‍स पार्टी (NPP) की ओर से डिप्‍टी सीएम वाई जॉयकुमार सिंह, मंत्री एन कायिसी, मंत्री एल जयंत कुमार सिंह और लेतपाओ हाओकिप ने पद से इस्‍तीफा दिया है।तृणमूल कांग्रेस के टी रोबिंद्रो सिंह और स्वतंत्र विधायक शाहबुद्दीन ने भी बीजेपी से समर्थन वापस ले लिया है।

कांग्रेस ने किया सरकार बनाने का दावा
कांग्रेस के नेता इबोबी सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके सरकार बनाने का दावा पेश किया है। कांग्रेस के पास फिलहाल 19 विधायक हैं, उसे एनपीपी के चार और टीएमसी सहित एक निर्दलीय विधायक का भी समर्थन मिल सकता है, इस तरह कांग्रेस को 25 विधायकों का समर्थन हासिल हो सकता है।