भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| दुनिया के विभिन्न देशों में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों (Emmanuel Macron) का विरोध हो रहा है। विरोध की यह आग मध्य प्रदेश (Madhyapradesh) भी पहुँच गई है| राजधानी भोपाल (Bhopal) के इकबाल मैदान में कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद (Arif Masood) की अगुवाई में हजारों की संख्या में लोगों की भीड़ जुटी और मैक्रों का पूतला फूंका। इस प्रदर्शन से प्रदेश की सियासत भी गरमा गई है| भाजपा नेताओं ने इस पर आपत्ति जताते हुए कांग्रेस से सवाल किये हैं, वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने कहा प्रदेश की शांति भांग करने वालों से सख्ती से निपटेंगे|

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर कहा है कि मध्य प्रदेश शांति का टापू है। इसकी शांति को भंग करने वालों से हम पूरी सख्ती से निपटेंगे। इस मामले में 188 आइपीसी के तहत मामला दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा, वो चाहे कोई भी हो।

भोपाल में फ्रांस के राष्ट्रपति के खिलाफ प्रदर्शन पर सियासत गर्म, सीएम बोले- सख्ती से निपटेंगे, बीजेपी ने कमलनाथ से पूछे सवाल

शुद्ध तौर पर आतंकवाद का समर्थन कर रहे, सोनिया-कमलनाथ जवाब दे: वीडी शर्मा
इधर, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने कहा, कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद द्वारा फ़्रांस के खिलाफ रैली का आयोजन करना, प्रदर्शन करना, यानी शुद्ध तौर पर आप आतंकवाद का समर्थन कर रहे हैं| शर्मा ने कहा मैं सोनिया गाँधी जी और कमलनाथ जी से पूछना चाहता हूँ कि क्या वो भोपाल मघ्य से कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद द्वारा फ़्रांस के खिलाफ और आतंकवाद के समर्थन में किये गए प्रदर्शन का समर्थन करते हैं ?

बता दें कि इकबाल मैदान में गुरूवार को कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद के नेतृत्व में बड़ा प्रदर्शन किया गया| हजारों लोगों ने फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों से माफ़ी की मांग की| प्रदर्शन के दौरान कई स्थानों पर ट्रैफिक जाम की स्थिति बन गई| जानकारी के मुताबिक मामले पर कार्रवाई करते हुए तलैया थाना पुलिस ने विधायक आरिफ मसूद समेत 400 अज्ञात लोगों पर कलेक्टर के आदेश और कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करने का केस दर्ज किया है।