ग्वालियर।अतुल सक्सेना।

कोरोना महामारी ने विश्व के साथ हमारे देश को भी हिला दिया है लेकिन ऐसे में एकजुटता और भाईचारे की जो मिसाल देखने को मिल रही हैं उससे ये विश्वास जाग रहा है कि भारत कोरोना को निश्चय हो हरायेगा। ये बात अलग है कि कुछ लोग इस संकट की घड़ी में भी सरकार और देश के साथ नहीं खड़े है लेकिन ग्वालियर में दलगत राजनीति से ऊपर उठकर कुछ युवा कोरोना वारियर्स का सम्मान कर रहे हैं और जरूरतमंदों की मदद कर रहे हैं।

लॉक डाउन के बाद से गरीबों और बेसहारा लोगों की मदद के हजारों हाथ शहर में उठ रहे हैं। लोग अपनी सामर्थ्य के हिसाब से मदद कर रहे हैं। कुछ युवा अपनी पॉकेट मनी से कुछ सामाजिक संगठनों के जरिये जरूरतमंदों की मदद कर रहे हैं। ऐसे में शहर में दलगत राजनीति से ऊपर उठकर काम करने वाले युवा भी सामने आये हैं। ये लोग ना सिर्फ मदद कर रहे हैं बल्कि कोरोना के खिलाफ संघर्ष में फ्रंट लाइन में डटे कोरोना वारियर्स का सम्मान भी कर रहे हैं।

गौरतलब है कि पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दीपक जलाने की अपील का ग्वालियर दक्षिण विधानसभा के कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक ने समर्थन किया था और दीपक भी जलाया था इतना ही नहीं उन्होंने दीपक जलाते अपनी तस्वीर भी सोशल मीडिया पर पोस्ट की थी जिसमें लिखा था कि कृपया से राजनैतिक चश्मे से ना दे देखें ये दीपक मेरे राष्ट्र के नाम है । ऐसा ही काम युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव मितेंद्र सिंह कर रहे हैं वे लॉक डाउन वाले दिन से ही अपने निवास के आसपास के जरूरतमंदों और सड़क पर ड्यूटी कर रहे पुलिसकर्मियों को भोजन करा रहे हैं। मितेंद्र गरीब बेसहारा लोगों को चप्पल भी वितरित कर रहे हैं। इस काम के साथ साथ इस युवा नेता ने कोरोना वारियर्स का सम्मान करना भी शुरू किया है। मितेंद्र सिंह ने कांग्रेस के साथियो कुलदीप कौरव लतीफ खान मल्लू , रमेश पाल, चतुर्भुज धनौलिया , श्रीकृष्ण गुर्जर , केशव सिंह यादव और श्रीमती शशि तोमर के साथ सफाई कार्य में लगे कर्मचारियों का सम्मान किया। कांग्रेस नेताओं ने सफाईकर्मियों के गले में माला पहनाई, शॉल उढ़ाया और उन्हें जूते और चप्पल भेंट की। सम्मान पाकर सफाईकर्मी भी भाव विभोर हो गए और उन्होंने वादा किया कि संकट की इस घड़ी में हम शहर को साफ सुथरा रखने में कोई कमी नहीं छोड़ेंगे। बहरहाल ग्वालियर जिले की बात की जाए तो यहाँ अभी चार कोरोना मरीज पॉजिटिव है लेकिन इतना विश्वास के साथ कहा जा सकता है कि जिस एकता और दलगत राजनीति से ऊपर उठकर इस शहर के लोग सामने आये हैं बहुत जल्दी यहाँ के हालात सामान्य होंगे।