Sahara : बीजेपी विधायक ने मुख्यमंत्री और गृहमंत्री से की मांग, सुब्रत राय सहारा को गिरफ्तार किया जाए

sahara
भोपाल डेस्क– Sahara Issue में बीजेपी (bjp) के सीनियर लीडर और मुखर विधायक (mla) यशपाल सिंह सिसोदिया (yashpal singh sisodiya) ने मुख्यमंत्री (chief minister) शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) और गृह मंत्री (home minister) डॉ नरोत्तम मिश्रा (dr.narottam mishra) से मांग की है कि  सहारा इंडिया कंपनी (sahara india company) के मालिक सुब्रत राय सहारा (subrto rai sahara) को  जल्द गिरफ्तार कराएं। दरअसल दो दिन पहले ही मंदसौर (mandsaur) में सहारा इंडिया कंपनी (sahara india company) के मालिक के खिलाफ लोगों का पैसा ना देने और धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया है। यशपाल मध्य प्रदेश के वे पहले राजनेता हैं जिन्होंने चिटफंड कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए मुहिम छेड़ी थी।

सहारा के एजेन्ट ने सुब्रत राय के खिलाफ दस करोड़ की धोखाधड़ी का मामला कराया दर्ज

 दरअसल मंगलवार को मंदसौर के एक थाने में वरिष्ठ पत्रकार और सहारा (sahara) के एजेंट नरेंद्र धनोतिया ने सहारा (sahara) कंपनी के मालिक सुब्रत राय  सहित चार लोगों के खिलाफ एफ आई आर दर्ज कराई थी और इन लोगों पर निवेशकों के लगभग दस करोङ रू न लौटाने का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की थी। पुलिस ने ठगी धोखाधड़ी व मध्य प्रदेश निक्षेपको का अधिनियम 2001 के तहत मामला दर्ज कर लिया था। यशपाल ने मुख्यमंत्री और गृह मंत्री को ट्वीट करके कहा है कि सुब्रतो राय के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए और उनकी गिरफ्तारी जल्द सुनिश्चित की जाए। यशपाल का कहना है कि निवेशक लगातार परेशान हो रहे हैं और इतनी बड़ी कंपनी के मालिक के ऊपर इसका कोई असर नहीं हो रहा है और  वे ना ही निवेशकों को कोई सही जवाब दे रहे हैं। यशपाल ने मुख्यमंत्री की तारीफ करते हुए कहा कि उनका चिंतन और सोच चिटफंड कंपनियों के झांसे में आकर फंसे लोगों को न्याय दिलाना है।

सहारा इंडिया की नयी मुसीबत, प्रॉविडेंट फंड ऑफिस ने की 1181 करोड़ की मांग

 यशपाल ने यह भी आरोप लगाया है कि इस कंपनी के कुछ जमीने मंदसौर के लोगों ने ही ओने पौने दामों में ले ली है और इस बात की एफआईआर भी दर्ज की गई है। यशपाल ने यह भी मांग की है कि बेची गई जमीन को कुर्क किया जाना चाहिए और इसे नीलाम करके उन निवेशकों का पैसा लौटाया जाना चाहिए जिन्होंने अपनी जीवन भर की गाढ़ी कमाई इस कंपनी के लिए निवेश कर दी। यशपाल ने आशा जताई है कि जब एफ आई आर दर्ज की गई है तो निश्चित रूप से इसका परिणाम भी आएगा और सहारा के चंगुल में फंसे लोगों को न्याय मिल पाएगा।