शिवराज का बड़ा बयान, 12 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के माता पिता को वैक्सीनेशन में मिलेगी प्राथमिकता

जिन बच्चों को शिक्षा के लिए विदेश जाना है, हम प्राथमिकता के आधार पर उनका भी टीकाकरण करवायेंगे, ताकि वे अध्ययन के लिए सुरक्षित विदेश जा सकें और शिक्षा प्राप्त कर सकें ।

शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने घोषणा की है कि कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए बच्छों और उनके माता पिता की सुरक्षा पर सरकार ध्यान देगी।  उन्होंने गुरुवार को कहा कि सरकार बच्चों के लिए अस्पतालों (Hospitals) में अलग से वार्ड बना रही है साथ ही जिन बच्चों की उम्र 12 वर्ष से  माता पिता को वैक्सीनेशन में प्राथमिकता देने का भी फैसला किया गया है।

एमपी फाइट्स कोरोना, इंडिया फाइट्स कोरोना हैशटैग के साथ कोरोना नियंत्रण  कर रही मध्यप्रदेश सरकार  के मुखिया शिवराज सिंह चौहान ने आज गुरुवार को कहा कि हमने कोरोना की दूसरी लहर पर नियंत्रण प्राप्त कर लिया है, लेकिन तीसरी लहर में बच्चों के अधिक प्रभावित होने की आशंका जताई जा रही है। अत: हमने पहले से ही स्वास्थ्य सुविधाओं को सुदृढ़ करने के साथ बच्चों के लिए वॉर्ड बनाने का फैसला किया है।

ये भी पढ़ें – अनलॉक का तीसरा दिन: नियम तोड़ती दो मार्केट प्रशासन ने कराई बंद, तीन दुकानों पर कार्रवाई

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हमने यह भी फैसला किया है कि जिन बच्चों की उम्र 12 वर्ष से कम है, उनके माता-पिता को टीकाकरण में प्राथमिकता दी जायेगी। यदि बच्चे को कोरोना संक्रमण हुआ तो माता-पिता का साथ रहना आवश्यक है। इसलिए उनका वैक्सीनेशन हो जाने पर वे संक्रमण से मुक्त रहेंगे। 

ये भी पढ़ें – बड़वानी: किल कोरोना-4 अभियान के तहत गांवो के साथ शहरो में भी किया जा रहा सर्वे

शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश के जिन बच्चों को शिक्षा के लिए विदेश जाना है, हम प्राथमिकता के आधार पर उनका भी टीकाकरण करवायेंगे, ताकि वे अध्ययन के लिए सुरक्षित विदेश जा सकें और शिक्षा प्राप्त कर सकें ।

ये भी पढ़ें – ड्रग कंट्रोलर ने दिल्ली हाईकोर्ट से कहा- “गौतम गंभीर फाउंडेशन फैबीफ्लू दवा की जमाखोरी का दोषी”