bhopal

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में Corona केसों में लगातार कमी देखी जा रही है। इसके साथ ही प्रशासन द्वारा लोगों को Corona गाइडलाइन (guideline) में छूट दी जा रही है। ऐसे मौके पर एक बार फिर से भोपाल में लॉकडाउन (lockdown) लगने का एक मैसेज तेजी से वायरल (viral) हो रहा है। दरअसल वायरल हो रहे मैसेज के मुताबिक भोपाल में कलेक्टर (bhopal collector) के आदेश अनुसार 18 जुलाई से 8 दिन का टोटल लॉकडाउन (total lockdown) लगाया जाएगा। अब इस मामले में पुलिस (bhopal police) ने सफाई जारी की है। दरअसल पुलिस द्वारा कहा गया है कि ये वायरल मैसेज पूरी तरह से गलत है।

दरअसल सोशल मीडिया पर लॉकडाउन लगाने की कलेक्टर के आदेश से अफवाह फैल रही है। भोपाल पुलिस का कहना है कि कलेक्टर ने ऐसा कोई आदेश जारी नहीं किया। वहीं कलेक्टर ने भी इस मैसेज का खंडन किया है। हालांकि पुलिस मामले की जांच कर रही है ताकि जल्द से जल्द मैसेज वायरल करने वाले की पहचान की जा सके। इस मामले में भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया (avinash lavania) का कहना है कि प्रशासन द्वारा लॉकडाउन को लेकर कोई नया आदेश जारी नहीं किया गया है। पहले से जारी आदेश अनुसार लॉकडाउन (Lockdown) में छूट दी गई है और वही जारी रहेगी।

Read More: VIDEO: खरीदारी करने आई महिला बनी ‘चोर’, उड़ा लिए सोने के गहने, घटना CCTV में कैद

बता दे कि सोशल मीडिया पर एक मैसेज तेजी से वायरल हो रहा है। जिसमें कहा जा रहा है कि कलेक्टर व जिला अधिकारी अविनाश लवानिया ने क्षेत्र की जनता की सुरक्षा और कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए रविवार 18 जुलाई से 24 जुलाई तक लॉकडाउन (Lockdown) के आदेश जारी किए हैं। इस वायरल मैसेज में यह भी बताया जा रहा है कि 18 जुलाई सुबह 5:00 से 25 जुलाई रविवार रात्रि 10:00 बजे तक क्षेत्र की सीमा सील रहेगी वहीं किसी व्यक्ति को घर से निकलने की अनुमति होगी। कोई संस्थान खुले रहेंगे आपातकाल को छोड़कर सभी दुकान बंद किए जाएंगे।

साथ ही बैरिकेडिंग कर सीमा को भी बंद किया जाएगा। इसके अलावा इस Viral मैसेज में यह भी कहा गया कि कलेक्टर आदेश जारी कर SDM, नगर पुलिस अधीक्षक को संबंधित निर्देश दिए हैं। साथ ही मेडिकल आपातकाल और शव यात्रा को छोड़कर अन्य किसी करण बाहर जाने की अनुमति नहीं होगी। फर्जी आदेश में ये भी कहा गया है कि मास्क नहीं लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने सहित कोरोना गाइडलाइन को लगातार तोड़ने के बाद संपूर्ण लॉकडाउन का निर्णय लिया गया है।