नगरीय निकाय चुनाव

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में नगरीय निकाय चुनाव (Urban body elections) की तैयारियां अपने अंतिम चरण पर पहुंच गई है। 25 दिसंबर के बाद कभी भी नगरीय निकाय चुनाव की तारीखों का ऐलान किया जा सकता है। इसी बीच एक बड़ी खबर सामने आ रही है। जिसके मुताबिक मध्य प्रदेश के नगरीय निकाय चुनाव में एक अन्य पार्टी भी हिस्सा लेने की तैयारी में है।

इसी के साथ नगरीय निकाय चुनाव के मतदान समय में भी संशोधन किया गया है। बता दें कि पहले मतदान का समय सुबह 7:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक निर्धारित किया गया था जिसमें संशोधन करते हुए और कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए मतदान का समय सुबह 7:00 बजे से शाम 6:00 बजे तक कर दिया गया है। इसके साथ ही साथ नगरिया निकाय चुनाव के प्रशिक्षकों को चुनाव सही तरीके से कराने के निर्देश दिए गए।

दरअसल अगले साल जनवरी में होने वाले मध्यप्रदेश नगरीय निकाय चुनाव में असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (All India Majlis A Ittehadul Muslimeen) अपने उम्मीदवार (candidate) उतार सकती है। इसके लिए कहीं पार्टी पर्यवेक्षक मध्य प्रदेश के कई जिलों में इंटरनल सर्वे (internal survey) कर रहे हैं। इसकी जानकारी एआईएमआईएम (AIMIM) के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष ने दी है।

दरअसल एक मीडिया चैनल से बात करते हुए एआईएमआईएम के प्रदेश अध्यक्ष नईम अंसारी ने कहा कि हैदराबाद से पार्टी के पर्यवेक्षक मध्यप्रदेश के अलग-अलग इलाकों में नगरी निकाय चुनाव के लिए सर्वे कर रहे हैं। नईम अंसारी ने बताया कि एआईएमआईएम के मध्य प्रदेश प्रभारी सैयद मिनहाजुद्दीन मध्य प्रदेश दौरे पर है।

Read More: नगरीय निकाय चुनाव : फरवरी से पहले चुनाव कराने की तैयारी, पार्षदों की खर्च सीमा तय

AIMIM के लिए बड़ी शुरुआत नगरीय निकाय चुनाव

वही एआईएमआईएम के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष के मुताबिक मध्यप्रदेश के इंदौर, रतलाम, जावरा, खरगोन, खंडवा बुरहानपुर, जबलपुर जैसे शहरों से नगरीय निकाय चुनाव में पार्टी चुनाव लडने की शुरुआत कर सकती है। नईम अंसारी ने बताया कि अब तक रतलाम, इंदौर, खरगोन और बुरहानपुर में सर्वे किया जा चुका है। वहीं उन्होंने कहा कि इंटरनेट सर्वे की रिपोर्ट हाईकमान तक पहुंचेगी। जिसके बाद पार्टी तय करेगी कि इन क्षेत्रों से चुनाव लड़ना है या अन्य जीरो का भी चुनाव किया जाएगा। अभी तक एआईएमआईएम ने मध्यप्रदेश में कोई भी चुनाव नहीं लड़ा है। ऐसी स्थिति में नगरीय निकाय चुनाव से शुरुआत करना निश्चित ही एआईएमआईएम के लिए बड़ी शुरुआत कहीं जा सकती है।

25 दिसंबर के बाद तारीखों का ऐलान

बता दे कि मध्य प्रदेश में फरवरी के अंत तक नगरीय निकाय चुनाव संपन्न करवाए जाएंगे। जिसके लिए 25 दिसंबर के बाद तारीखों का ऐलान किया जा सकता है। वही चुनाव दो चरणों में होंगे। ऐसे साथी 1 जनवरी 2020 की मतदाता सूची के हिसाब से चुनाव आयोजित की जाएगी। वही माना जा रहा है कि जिन जिलों में निकायों की संख्या कम है वहां एक ही चरण में चुनाव संपन्न कराए जाएंगे। इसके लिए पार्षद प्रत्याशियों की चुनावी खर्च के लिए भी तय कर दी गई है। अब ऐसे में एआईएमआईएम मध्यप्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों के लिए मुसीबत खड़ी कर दी है या नहीं। यह देखना दिलचस्प है।