भारतीय रेलवे के वॉलीबॉल कोच राजेश तिवारी की संधिग्ध हालत में मौत, जांच में जुटी पुलिस

रेल्वे में विधुत विभाग में पदस्थ थे राजेश तिवारी

जबलपुर, संदीप कुमार। पश्चिम मध्य रेल्वे में बालीबाल कोच और अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी राजेश तिवारी की सोमवार को संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई।  उनका शव एक होटल में पाया गया। बालीबाल कोच की अचानक हुई। मौत के बाद खेल जगत में हड़कंप मच गया है।

भुवनेश्वर में हुई कोच राजेश तिवारी की मौत

बताया जा रहा है करीब तीन दिन पहले बालीबाल कोच राजेश तिवारी अपनी टीम को लेकर भुवनेश्वर गए हुए थे। वही कल उनका शव होटल में संदिग्ध हालत में मिला। जानकारी के मुताबिक स्थानीय लोग राजेश तिवारी की मौत को आत्महत्या बता रहे है। सवाल ये भी उठता है कि आखिर अपनी टीम के साथ मध्यप्रदेश से भुवनेश्वर गए।  राजेश तिवारी वहाँ क्यो आत्महत्या करेंगे।

Read More: Satna Bus Accident: अनियंत्रित होकर पलटी बस, 2 की मौत, 40 से अधिक घायल

रेल्वे में विधुत विभाग में पदस्थ थे राजेश तिवारी

बालीबाल में अपने खेल के जरिए पूरे भारत मे नाम कमाने वाले कोच राजेश तिवारी भोपाल रेल मंडल के विधुत विभाग में पदस्थ थे। जानकर बताते है कि वह बॉलीबाल खेल के लिए पूरी तरह से समर्पित थे। उनके द्वारा सिखाए गए खिलाड़ी आज राष्ट्रीय टीम में शामिल है। टीम दिन पहले ही वह रेल्वे की टीम लेकर भुवनेश्वर गए थे।

रेल्वे ने की मौत की पुष्टि-पर कारण नही पता

अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी और वॉलीबॉल कोच राजेश तिवारी की संदिग्ध हालत में हुई मौत की पुष्टि रेलवे ने भी की है। हालांकि रेलवे के अधिकारी अभी यह बताने में सक्षम नहीं है कि किस वजह से उनकी मौत हुई है। इधर बालीबाल अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी राजेश तिवारी की मौत के बाद से जहां खेल प्रेमियों में शोक की लहर दौड़ गई है। वहीं उनके शव को मध्यप्रदेश लाया जा रहा है। फिलहाल पोस्टमार्टम के बाद ही पता चल सकेगा कि राजेश तिवारी की मौत हत्या है या फिर आत्महत्या।