Health Insurance New Rules: हेल्थ इंश्योरेंस से जुड़े कई नियम बदले, पॉलिसिहोल्डर्स को होगा फायदा, यहाँ जानें डिटेल

IRDAI ने हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के नियमों में 3 बदलाव किए हैं। नियमों में बदलाव से मौजूदा और नए ग्राहकों को फायदा होगा।

Manisha Kumari Pandey
Published on -
Health Insurance New Rules

Health Insurance New Rules: हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी धारकों के लिए बड़ी अपडेट सामने आई है। इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया ने हेल्थ पॉलिसी से जुड़े नियमों में कई बदलाव किए हैं। जिसका फायदा मौजूदा और नए पॉलिसीहोल्डर्स को होगा। आईआरडीएआई ने हेल्थ पॉलिसी से जुड़े तीन बड़े बदलाव किए हैं। मोरटोरियम पीरियड और पीईडी के लिए वोटिंग पीरियड को घटाया गया है। इतना ही नहीं अब पॉलिसी खरीदने के कोई भी अधिकतम आयु सीमा न रखने का फैसला लिया गया है। यदि आप हेल्थ पॉलिसी का लाभ उठाते हैं तो नियमों के बारे में जरूर जान लें। 

हेल्थ पॉलिसी खरीदने के लिए अब कोई अधिकतम आयु सीमा नहीं

आईआरडीएआई ने हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने के लिए अधिकतम आयु सीमा के शर्त को हटा दिया है। इससे पहले बीमा कंपनियों को 65 साल तक के व्यक्ति को रेगुलर हेल्थ कवर ऑफर करने अनुमति थी। बदलाव के बाद इंश्योरेंस कंपनियां वरिष्ठ नागरिकों को ध्यान में रखते हुए पॉलिसी ऑफर कर सकती हैं। इस फैसले से कस्टमाइज्ड और इन्नोवेटिव पॉलिसीज मार्केट में आएंगे।

Continue Reading

About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"