इलेक्ट्रिक स्कूटर लेने से पहले एक बार फिर सोच लें, दूसरी बार फटा इस कंपनी का स्कूटर

प्योर ईवी ने इसके कारणों के बारे में अभी तक कोई बयान जारी नहीं किया है। जबकि प्योर ईवीके इलेक्ट्रिक स्कूटर में यह पांचवां मामला है। जब गाड़ी में आग लगी है। इससे पहले चार अन्य मामले देश के अलग-अलग हिस्सों से सामने आ चुके हैं।

ऑटोमोबाइल, डेस्क रिपोर्ट। इलेक्ट्रिक बाइक में आग लगने की घटना कुछ कम हुई थी। साथ ही उसकी जांच भी चल रही थी, तो लग रहा था सब कुछ सही हो रहा है। मगर एक बार फिर इलेक्ट्रिक टू व्हीलर में आग लगने की घटना सामने आई है। यह घटना गुरुवार को गुजरात के पाटन जिले के सुविधानाथ सोसायटी के एक घर में उस समय हुई जब प्योर स्कूटर को चार्ज किया जा रहा था। आग लगने से यह इलेक्ट्रिक स्कूटर पूरी तरह से जल गई। जिसका वीडियो सोशल मीडिया मीडिया पर एक बार फिर वायरल हो गया है। इस वीडियो में स्कूटर में चार्जर लगा हुआ दिख रहा है। हालांकि इसमें कोई भी जनहानि की खबर नहीं है।

Read More : Kabul Gurudwara करता परवान पर आतंकियों ने किया हमला, हर तरफ दहशत का माहौल

प्योर ईवी ने इसके कारणों के बारे में अभी तक कोई बयान जारी नहीं किया है। जबकि प्योर ईवीके इलेक्ट्रिक स्कूटर में यह पांचवां मामला है। जब गाड़ी में आग लगी है। इससे पहले चार अन्य मामले देश के अलग-अलग हिस्सों से सामने आ चुके हैं। आखरी घटना पिछले महीने हैदराबाद में हुई थी। वहीँ प्योर ने सरकार द्वारा निर्देशन के बाद 2000 इलेक्ट्रिक स्कूटर ओं को वापस बुला लिया था।

Read More : Mandi bhav: 18 जून 2022 के Today’s Mandi Bhav के लिए पढ़े सबसे विश्वसनीय खबर

इलेक्ट्रिकल व्हीकल में की बैटरी में आग लगने की 5 वजह

ईवी में इस्तेमाल होने वाले सभी बैटरी प्लास्टिक कैबिनेट के साथ गाड़ियों में आ रही है। इसलिए जब यह बैटरी गर्म होती है तो प्लास्टिक पिघलने लगती है साथ में इस में लगे हुए सर्किट भी पिघलने लगते हैं। इससे आग लगने का खतरा बढ़ जाता है। बैटरी भले ही पूरी तरह पैक है, लेकिन इसके बाद भी इसमें हीट का डिस्चार्ज होता है।

ज्यादातर बैटरी लिथियम आयन बेस्ड है। जिससे ज्यादा हीट निकलती है। इसके लिए इसके ऊपर का कवर ज्यादा मजबूत होना चाहिए। साथ ही हिट सिंक का भी इस्तेमाल किया जाना चाहिए, लेकिन बैटरी ऑपरेटर इसका इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं। यह बैटरी स्वाइपेबल है एक जगह से दूसरी जगह इसको ले जाया जा सकता है। इसलिए इसे हल्का रखा गया है। जिसके बजह से हीट सिंक नहीं हो पा रही।

Read More : TVS Zeppelin : टीवीएस मार्केट में उतारने जा रहा अपनी क्रूजर बाइक, फीचर्स और लुक देखकर मोहित हो जाएंगे आप

चार्जिंग के दौरान जिन गाड़ियों में आग लग रही है। उसमें सबसे बड़ा कारण शॉर्ट सर्किट है। इसका करंट इतना हैवी होता है कि अगर बैटरी का जॉइंट टाइट नहीं हो तो उसमें शॉर्ट सर्किट के संभावना बढ़ जाती है। टू व्हीलर में 7kw तक का चार्जर इस्तेमाल हो रहा है। यह घर में इस्तेमाल होने वाले एयर कंडीशनर से लगभग 5 से 7 गुना तक ज्यादा करंट खींचता है। जिसके कारण शॉर्ट सर्किट हो रहा है और इन को मैनेज करने के लिए हमारे टेक्नीशियन अभी तैयार नहीं है।

देश में दिनों दिन तापमान तेजी से बढ़ा है। जिसके कारण गाड़ियों में आग लगने की समस्या हो रही है। इलेक्ट्रिकल टू व्हीलर में बैटरी का इस्तेमाल सीट के नीचे होता है। ऐसे में जब गाड़ी धूप में खड़ी रहती है तो उसके बॉडी का टेंपरेचर 70 डिग्री से भी अधिक हो जाता है। सीट के नीचे का हिस्सा एयरटाइट है। ऐसे में उसका टेंपरेचर भी उतना अधिक हो जाता है। तो जब हम गाड़ी स्टार्ट करते हैं, गाड़ी को बढ़ाने के लिए मोटर को ज्यादा पावर लगता है। तो इससे उसका भी तापमान बढ़ जाता है इस वजह से बैटरी में आग लग जाती है।

Read More : जब पुलिस को पता चला कि चूहे ही चोर है, तो कैसे किया पर्दाफाश, 5 लाख का सोना हुआ बरामद

बैटरी बनाने वाली ज्यादातर मैन्युफैक्चरिंग कंपनी चीन और ताईवान बना रही है। ऐसे में बैटरी का वजन और कीमत कम करने की वजह से उसमें हीटसिंक अच्छी तरह से इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है। बैटरी की क्वालिटी पर भी अच्छी तरह से काम नहीं किया जा रहा है।

लिथियम आयन से बैटर लिथियम फास्फेट बैटरी का इस्तेमाल किया जाना चाहिए, क्योंकि यह गर्मी को सहन कर सकती है लेकिन इसकी लागत अधिक होने की वजह से इसका इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है।

Read More : इन पांच Private Bank में Saving Account खुलवाना होगा फायदेमंद, मिलेगा ज्यादा ब्याज

यदि आप भी इलेक्ट्रिक टू व्हीलर का इस्तेमाल कर रहे हैं तो इन 6 बातों का ध्यान रखें:

  1. स्कूटर को ऐसी जगह पर चार्ज करें जो आउटर एरिया में हो घर के। साथ ही उसके आसपास कपड़े लकड़ी के सरफेस ना रहे।
  2. बैटरी को पूरी रात चार्जिंग पर नहीं लगाएं। जब तक जाग रहे हैं तब तक चार्ज करें सोते वक्त बंद कर दें।
  3. यदि गाड़ी पानी में भीग गयी है तो चार्जिंग नहीं करें। उसे अच्छी तरह सूखने दें। उसे साफ करें उसके बाद ही चार्जिंग पर लगाएं।
  4. ड्राइविंग के दौरान अगर महक आती है तो उसे इग्नोर ना करें। गाड़ी को रोक ले और सीट को ओपन कर लें। ताकि अंदर की हीट बाहर निकल जाए।
  5. चाइना की मैन्युफैक्चरर्स व्हीकल लेने से बचें जो इंडिया में गाड़ियां बन रही हैं उन्हें खरीदें।
  6. गाड़ी का इंश्योरेंस को अपडेट रखें। यदि वह एक्सपायर होने वाला है तो सप्ताह भर पहले ही उसे रिन्यू करा लें। इससे आपको क्लेम लेने में आसानी होगी।