MPESB Results: ग्रुप-1, सब ग्रुप-1 और ग्रुप-2 भर्ती परीक्षा के परिणाम घोषित, ऐसे करें चेक, ये है लिंक

एमपीईएसबी ग्रुप-1, सब ग्रुप-1, ग्रुप-2 और सब ग्रुप-3 भर्ती परीक्षा के परिणाम जारी हो चुके हैं। 1900 से अधिक पदों पर उम्मीदवारों की भर्ती की जाएगी। आइए जानें आप कैसे अपना रिजल्ट चेक कर सकते हैं?

Manisha Kumari Pandey
Published on -
mpesb results

MPESB Results: मध्यप्रदेश कर्मचारी चयन मण्डल (MP Employees Selection Board) ने ग्रुप-1, सब ग्रुप-1, ग्रुप-2 और सब ग्रुप-1 भर्ती परीक्षा के परिणाम आधिकारिक वेबसाइट पर मंगलवार को जारी कर दिए हैं। परीक्षा में शामिल हो चुके उम्मीदवार esb.mp.gov.in पर जाकर रिजल्ट चेक कर सकते हैं।

ऐसे चेक करें रिजल्ट

रिजल्ट डाउनलोड करने के लिए एप्लीकेशन नंबर और जन्मतिथि की आवश्यकता पड़ेगी। नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करके आप परिणाम चेक कर सकते हैं-

  • सबसे पहले ऑफिशियल वेबसाइट esb.mp.gov.in पर जाएं।
  • होमपेज पर दिए गए “Results” के सेक्शन में “Group 1, Sub Group 1 और Group 2, Sub Group 1  रिजल्ट्स” के लिंक पर क्लिक करें।
  • नया पेज खुलेगा। यहाँ 13 डिजिट वाला एप्लीकेशन नंबर और डेट ऑफ बर्थ दर्ज करें।
  • माँ के नाम का पहला 2 अक्षर+अपने आधार नंबर के लास्ट 4 डिजिट दर्ज करें।
  • कोड दर्ज करें और “Search” के ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • स्क्रीन पर रिजल्ट नजर आएगा, इसे डाउनलोड करें।

परीक्षा के बारे में

समूह 1 और उप समूह 1 के अंतर्गत वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी और वरिष्ठ उद्यान विकास अधिकारी के पद पर भर्ती होगी। रिक्त पदों की संख्या कुल 32 है। वहीं समूह दो और उप समूह एक के अंतर्गत ग्रामीण उद्यान विस्तार अधिकारी और ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी के पद पर कुल 1946 पदों पर भर्ती होनी है। Official Notification link


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News