बाढ़ को लेकर मंगलवार को केंद्रीय दल के साथ सीएम शिवराज की अहम बैठक, स्वास्थ्य कारणों से अन्य कार्यक्रम रद्द

सीएम शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। भोपाल में मंगलवार को केंद्रीय दल के साथ बाढ़ से हुए नुकसान को लेकर शाम 7 बजे अहम बैठक होगी। पहले ये बैठक ग्वालियर में होनी थी लेकिन सीएम शिवराज सिंह चौहान ((CM Shivraj Singh Chouhan) ) के खराब स्वास्थ्य के कारण मंगलवार को उनके सारे दौरे रद्द होने के बाद ये बैठक भोपाल में होगी। बता दें कि सीएम शिवराज सिंह चौहान की तबियत अचानक बिगड़ गई है। इसके चलते उन्होंने सारे कार्यक्रम रद्द कर दिए है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो पिछले दो दिन से सीएम शिवराज सिंह को गले में खराब और बोलने में परेशानी हो रही है। गले में तकलीफ ज्यादा होने के चलते डॉक्टरों ने उन्हें वोकल रेस्ट के साथ आराम करने की सलाह दी है। इसी के साथ मुख्यमंत्री का मंगलवार को अशोकनगर, गुना और शिवपुरी-ग्वालियर का दौरा भी निरस्त कर दिया गया है। वहीं बाढ़ से हुए नुकसान को देखने आने वाले केंद्रीय दल के साथ बैठक भोपाल में मंगलवार शाम 7 बजे होगी। पहले यह बैठक मंगलवार शाम 7 बजे ग्वालियर में प्रस्तावित थी।

यह भी पढ़े.. केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने फिर लिखा पत्र, अब रेल मंत्री से की ये मांग

खराब तबियत के कारण सीएम के आज के भी सभी कार्यक्रम रद्द कर दिए गए हैं। हालांकि सुबह आयोजित कार्यक्रमों में उन्होंने भाग लिया था। डॉक्टरों ने आज सारा दिन सीएम शिवराज को आराम करने की सलाह दी है। मुख्यमंत्री आज सोमवार को विदिशा के कुरवई विधानसभा क्षेत्र में बाढ़ पीड़ितों से मिलने जाने वाले थे, दोपहर 1:30 बजे सीएम को रवाना होना था, लेकिन तबियत ठीक ना होने के चलते कार्यक्रम रद्द कर दिया।वही मुख्यमंत्री ने देर शाम होने वाली मुलाकातों को भी टाल दिया है।वही सावन माह के चौथे सोमवार को सीएम शिवराज सिंह चौहान की पत्नी साधना सिंह ने भगवान महाकाल के दर्शन किए और उनके जल्द ठीक होने के लिए प्रार्थना की है।

इससे पहले आज सुबह सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सीएम हाउस पर सीबीएसई 10वीं बोर्ड में 99.8 प्रतिशत लाने वाली टॉपर वनिषा पाठक को 2 लाख का चेक सौंपा था और भोपाल के शौर्य स्मारक चौराहे के पास पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी की पुण्यतिथि पर उन्हें पुष्प अर्पित किए। वही पशुपालन मंत्री प्रेम सिंह पटेल जी के निवास पहुँचकर कुशलक्षेम जाना।

यह भी पढ़े.. टॉपर वनीषा को सीएम शिवराज ने सौंपा 2 लाख का चेक, बोले-कोई कमी नहीं होने दूंगा

इससे पहले एक कार्यक्रम में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज़ादी की 75वीं वर्षगाँठ पर आज़ादी का #अमृतमहोत्सव मनाने का फैसला किया है। मध्यप्रदेश में सालभर कार्यक्रमों का आयोजन होगा और पुस्तकों का प्रकाशन होगा।देशभक्ति का इतिहास बच्चों के सामने जाए ताकि वे ज़िम्मेदार नागरिक बनें। आज देश के लिए भले ही मरने की ज़रूरत न हो, लेकिन देश के लिए जीने वाले मिलें। अपने कर्तव्यों का निष्ठा के साथ पालन करना ही सच्ची देशभक्ति है।

भोपाल में भारत माता का मंदिर

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि देश को आजाद कराने हजारों क्रांतिकारी साथी हंसते-हंसते फांसी के फंदे से झूल गए। उनके एक हाथ में गीता होती थी,भारत माता की जय के उद्घोष निकलते थे।उनके हृदय में दृढ़ संकल्प था कि हम तब तक इस पवित्र भारत भूमि में जन्म लें जब तक भारत माता को परतंत्रता की बेड़ियों से आजाद न करा लें।मध्यप्रदेश की धरती पर चाहे टंट्या भीमा हो, भीमा नायक हो, शंकर शाह-रघुनाथ शाह हो, चाहे महारानी लक्ष्मीबाई हो। हर एक का स्मारक बनाने का फैसला किया है। कई बनकर तैयार हैं। भोपाल में भारत माता का एक ऐसा मंदिर बनाने की हमारी कल्पना है जिसमें हर एक क्रांतिकारी का जीवन चरित्र हो।

अटल जी को किया याद

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि देश के लिए जीने का मतलब है कि अपने काम को मेहनत और ईमानदारी से करें। यही सबसे बड़ी देशभक्ति है। मैं रोज एक पेड़ लगाता हूं। ताकि जलवायु परिवर्तन के खतरे से सबको अवगत कराकर धरती मां को बचाने का काम कर सकें।क्‍या हार में क्‍या जीत में, किंचित नहीं भयभीत मैं संघर्ष पथ पर जो मिले, यह भी सही वह भी सही। हिमालय सा व्यक्तित्व लेकिन विनम्रता के समुद्र और दृढ़ता जैसे आकाश, ऐसे परम श्रद्धेय भारत रत्न स्व.अटल बिहारी वाजपेयी जी की पुण्यतिथि पर उन्हें सादर नमन