सीएम शिवराज

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। देश में कोरोना केसों (corona cases) में लगातार कमी देखी जा रही है। जिसके बाद पाबंदियों को छूट दी जा रही है। इस दौरान स्कूल-कॉलेज (MP school-Mp college) खोलने पर भी सहमति बनती नजर आ रही है। कई राज्य द्वारा स्कूल और कॉलेज खोल दिए गए हैं। इसी बीच मध्य प्रदेश सरकार (MP government) ने फैसला किया है। दरअसल मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) ने आज कॉलेज खोलने (college reopen) को लेकर बड़ी घोषणा की है।

सीएम शिवराज ने कहा कि 1 अगस्त से 50% की क्षमता के साथ मध्यप्रदेश में कॉलेजों को खोला जाएगा। चरणबद्ध तरीके से मध्यप्रदेश में पाबंदियों में छूट दी जाएगी। वहीं 25-26 जुलाई से कक्षा 11वीं और 12वीं की कक्षाएं 50% क्षमता के साथ संचालित होगी।

सीएम शिवराज ने कहा कि 15 अगस्त तक यदि सब कुछ ठीक रहा तो छोटी क्लास के स्कूलों को भी खोले जाने का विचार किया जाएगा साथ ही कोचिंग संस्थानों को भी खोलने की अनुमति जल्द दी जा सकती है। शिवराज ने कहा कि सावधानी जरूरी है इसे सप्ताह में 2 दिन 1 बैच और फिर 2 दिन बाद दूसरे बैच को कॉलेज जाने की सहमति दी जाएगी। जनता ने अगर कोरोना गाइडलाइन का पालन किया है तो 9वीं से 10वीं और 6वीं से 8वीं तक और फिर पहली से 5वीं तक के स्कूल को चरणबद्ध तरीके से खोले जाएंगे।

Read More: दिग्विजय सिंह ने बताया – BJP क्यों करती है फ्रॉड बाबा को पसंद, की पूर्व स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन की तारीफ

CM शिवराज ने कहा कि शिक्षा मिलनी है चाहे कैसे भी मिले शिक्षा कैसी होगी यह सिर्फ अफसर थे नहीं करेंगे इसलिए हमने मंत्रियों की शिक्षा का समूह बनाया है। छात्र मेहनत कर रहे हैं तो हम उनके परिश्रम को दर्जा देंगे। सिर्फ सरकारी शिक्षा ही बेहतर नहीं है हमें इसे सुधारना होगा।

इससे पहले शिक्षा मंत्री ने कहा था कि अगर हालात सामान्य रहे तो अगस्त से प्रदेश के सभी काॅलेज खोल दिए जाएंगे।लेकिन सभी छात्रों और शिक्षकों को कोरोना गाइडलाइन (Guideline) का पालन करना होगा। वही बिना वैक्सीनेशन के किसी को भी काॅलेज में प्रवेश नहीं मिलेगा। इसके लिए सभी को वैक्सीनेशन (vaccination) सर्टिफिकेट दिखाना जरूरी होगा। शुरुआत में 50 % स्टॉफ के साथ कॉलेजों को खोल दिया जाएगा। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करके ही कॉलेजों में पढ़ाई हो सकेगी।

प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan)  ने कहा था कि स्कूल, कॉलेज व अन्य शिक्षण संस्थानों को ज्यादा दिन बंद नहीं रखा जा सकता, इससे पहले Corona समीक्षा बैठक के दौरान सीएम शिवराज ने कहा था कि शादी विवाह में अधिकांश 100 व्यक्ति जबकि अंतिम संस्कार में 50 व्यक्ति शामिल हो सकेंगे। साथ ही सिनेमाघरों का संचालन 50% क्षमता के साथ किया जा सकेगा। रेस्टोरेंट भी शत-प्रतिशत क्षमता के साथ संचालित किए जाएंगे। जबकि बाजार रात 10:00 बजे तक खुले रह सकेंगे। वैक्सीनेशन जरूरी है। वहीं मंत्री परिषद की बैठक में भी बात सामने आई कि वैक्सीनेशन की संख्या अगर बढ़ती है तो स्कूल (MP School), कॉलेज (college) खोले जाएंगे।

सीएम शिवराज ने कहा कि कोरोना संक्रमण को लेकर सतर्कता आवश्यक है। पूर्वोत्तर राज्यों में प्रकरण बढ़ रहे हैं। इसके साथ ही केरल और महाराष्ट्र के भी प्रकरण कम नहीं हो रहे हैं। अगस्त में प्रकरण बढ़ने का पूर्वानुमान है। जिसके लिए हमें सतर्क रहने की आवश्यकता है।