कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर, जल्द मिलेगा प्रमोशन का लाभ, मुख्य सचिव ने विभागों को लिखा पत्र, प्रक्रिया शुरू

वहीं अधिकारियों की मानें तो विभिन्न विभागों में पदोन्नति की स्थिति के लिए आंकड़े जुटाए जा रहे

government employees news
DEMO PIC

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। प्रदेश सरकार बड़ी तैयारी में है। दरअसल जल्द ही कर्मचारियों की प्रमोशन (Employees promotion) का रास्ता साफ होगा। दरअसल सरकार में 19000 से अधिक पद खाली पड़े हुए हैं। जिनको प्रमोशन के जरिए भरा जाना है। इसके लिए प्रक्रिया (process) शुरू कर दी गई है। वहीं मुख्य सचिव द्वारा सेवा विभाग को दिसंबर के अंत तक सभी योग्य लोगों को प्रमोशन देने के निर्देश दिए गए। दरअसल यदि इस साल के अंत तक इन रिक्त पदों पर भर्ती नहीं की जाती है तो यह सभी पद खत्म हो जाएंगे। ऐसे में दिल्ली के मुख्य सचिव ने विभागों को यह नवीन आदेश दिए हैं।

इतना ही नहीं विभाग को यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन (UPSC) और दिल्ली सबोर्डिनेट सर्विस सिलेक्शन बोर्ड (DSSSB) को भी अनुरोध भेजने के निर्देश दिए गए हैं ताकि खाली पड़े रिक्त पदों पर सीधी भर्ती की प्रक्रिया को पूरा किया जा सके। मुख्य सचिव नरेश कुमार के इस निर्देश के बाद कर्मचारियों के पदोन्नति के आदेश जल्द जारी किए जाएंगे।

Read More : NEET UG Answer Key 2022 ऐसे करें डाउनलोड, अगस्त के अंत तक जारी होंगे रिजल्ट, जानें बड़ी अपडेट

बता दें कि सेवा विभाग द्वारा हाल में एक आदेश जारी किया गया था। जिसके अनुसार प्रमोशन कोटे के तहत 23378 पद रिक्त पड़े हैं। जिनमें से 4246 पदों को भरने की कार्रवाई पूरी की गई है। वही 19 हजार से अधिक सभी विभागों में रिक्त हैं।जिस पर मुख्य सचिव ने स्थिति का आकलन करने के बाद नवीन आदेश जारी कर दिए हैं। उन्होंने कहा है कि सभी श्रेणियों में नवीनतम पदोन्नति की जाएगी और इसके लिए 31 दिसंबर 2022 तक का समय तय किया गया है।

वहीं अधिकारियों की मानें तो विभिन्न विभागों में पदोन्नति की स्थिति के लिए आंकड़े जुटाए जा रहे हैं। मुख्य सचिव के निर्देश पर सेवा विभाग ने तीनों केटेगरी के लिए विभागीय पदोन्नति के माध्यम से भरे जाने वाले रिक्त पदों का डिटेल तैयार किया है। वही नवीन डाटा में पाया गया है कि अभी भी प्रमोशन कोटे के 23378 पद रिक्त हैं। इतना ही नहीं विभागों में 17256 पद रिक्त हैं। जिन पर UPSC-DSSSB को 10980 पदों पर भर्ती की जानकारी दी गई है। इनमें से 6000 से अधिक पदों को भरने की कार्रवाई सुनिश्चित की गई है।

जानकारी के मुताबिक बता दें कि यदि राजधानी में 2 साल से अधिक समय तक रहे तो उन्हें कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग भारत सरकार के दिशा निर्देश अनुसार समाप्त माना जाएगा। ऐसी स्थिति में इन पदों पर पदोन्नति के जरिए भर्ती की जाएगी। साथ ही सीधी भर्ती के प्रस्ताव भी यूपीएससी सहित एसएसबीबी को भेजे गए हैं।