MP By-Election : बुधवार से शुरू होगी नामांकन की प्रक्रिया, उपचुनाव के लिए मतदाता सूची तैयार

मतदान के दौरान कोरोना गाइडलाइन का पालन कराने के लिए निर्वाचन आयोग ने नोडल ऑफिसर की भी नियुक्ति की है।

दमोह उपचुनाव

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में उपचुनाव (MP By-Election ) को लेकर अधिसूचना बुधवार को जारी की जाएगी। इसके लिए तैयारियां पूरी हो चुकी है। वहीं नामांकन जमा (nomination submission) करने का सिलसिला बुधवार 22 सितम्बर से शुरू हो जाएगा। बता दे कि इससे पहले विधानसभा सचिवालय (Assembly Secretariat) द्वारा मतदाता सूची (voter list) तैयार कर ली गई है।

दरअसल मध्यप्रदेश में थावरचंद गहलोत (Thawar Chand Gehlot) के इस्तीफे (resign) के बाद राज्यसभा (rajya sabha) की रिक्त पदों पर उपचुनाव (By-Election)  की अधिसूचना बुधवार को जारी की जाएगी। साथ ही नामांकन पत्र (nomination filing) दाखिल करने का सिलसिला शुरू हो जाएगा। हालांकि चुनाव से पहले की सारी तैयारियां पूरी की जा चुकी है। इसके साथ ही निर्वाचन आयोग ने विधानसभा के प्रमुख सचिव अवधेश प्रताप सिंह (AP Singh) को रिटर्निंग ऑफिसर (returning officer) नियुक्त किया है।

अवधेश प्रताप सिंह ने बताया कि राज्यसभा चुनाव के लिए सभी तैयारी पूरी की जा चुकी है। 230 सदस्यीय विधानसभा में 3 पद रिक्त है। जिसके बाद चुनावी प्रक्रिया के दौरान इसे पूरा किया जाएगा। वहीं चुनाव की सभी क्रिया समिति कक्ष के कमरे नंबर 2 में संपन्न की जाएगी।

Read More: दिग्गज तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा ने क्रिकेट के सभी प्रारूपों को कहा अलविदा, नाम कई शानदार रिकॉर्ड

अधिक जानकारी देते हुए AP Singh ने बताया कि 22 सितंबर से नामांकन की प्रक्रिया शुरू होगी जबकि 27 सितंबर को नाम वापस लेने का आखरी दिन होगा। सिंह ने कहा कि 4 अक्टूबर को सुबह 9:00 से 4:00 के बीच मतदान किया जाएगा। मतगणना शाम 5:00 बजे से शुरू होगी।

विधानसभा सचिव अवधेश प्रताप सिंह ने कहा कि यदि 27 सितंबर को नाम वापस लेने के बाद एक ही नामांकन शेष रहता है तो इसी दिन निर्विरोध निर्वाचन की घोषणा कर दी जाएगी लेकिन यदि ऐसा नहीं होता है तो फिर 4 अक्टूबर को चुनाव कराए जाएंगे। वहीं चुनाव में Corona गाइडलाइन (corona guideline) का पालन करना अनिवार्य होगा। इसके साथ ही साथ स्वास्थ्य विभाग की टीम स्क्रीनिंग (screening) सहित अन्य व्यवस्था के साथ तैयार रहेगी मतदान के दौरान कोरोना गाइडलाइन का पालन कराने के लिए निर्वाचन आयोग ने नोडल ऑफिसर की भी नियुक्ति की है।