MP By-election: 1 सीट पर 10 कांग्रेस विधायकों की जिम्मेदारी, BJP में मंत्री संभालेंगे मोर्चा

वही MP By-election में एनएसयूआई के माध्यम से युवा वोटरों को साधते हुए कांग्रेस की मंहगाई, कर्मचारी, आरक्षण, बेरोजगारी समेत कई पुराने मुद्दों को भी जनता के बीच ले जाने की तैयारी है।

MP BY-ELECTION

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में एक बार फिर 4 सीटों पर उपचुनाव (MP By-election) होने वाले है,जिसको लेकर सियासी हलचल तेज हो गई है। एक तरफ जहां पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कमान संभालते हुए 1 सीट पर 10 कांग्रेस विधायकों को जिम्मेदारी सौंपी है, वही दूसरी तरफ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रियों को मोर्चा संभालने को कहा है। दोनों दलों की तैयारियों से स्पष्ट हो गया है कि यह सीटें कांग्रेस और बीजेपी के लिए कितनी महत्वपूर्ण है और इस पर कई दिग्गजों की साख दांव पर लगी है।

यह भी पढ़े.. MP Weather Alert: मप्र के 3 दर्जन से ज्यादा जिलों में भारी बारिश का अलर्ट, बिजली गिरने के भी आसार

दरअसल, आगामी दिनों में खंडवा लोकसभा सीट (Khandwa Loksabha Seat) और जोबट, पृथ्वीपुर, रैगांव (Raigaon Vidhansabha )  विधानसभा सीटों पर चुनाव होना है। इसको लेकर बीजेपी और कांग्रेस ने तैयारियां शुरु कर दी है। दमोह उपचुनाव (Damoh By-election) की जीत के बाद एक बार फिर कांग्रेस इमोशनल कार्ड खेलने की तैयारी में है। इसके लिए पार्टी उपचुनाव वाली हर सीट पर कम से कम 10 विधायकों को तैनात करने की तैयारी है, ताकि वह पार्टी के पक्ष में माहौल बना सकें।

वही MP By-election में एनएसयूआई के माध्यम से युवा वोटरों को साधते हुए कांग्रेस की मंहगाई, कर्मचारी, आरक्षण, बेरोजगारी समेत कई पुराने मुद्दों को भी जनता के बीच ले जाने की तैयारी है।इसके साथ ही दलित और पिछड़ा वर्ग को भी साधने की तैयारी है।इतना ही नहीं पिछले चुनावों की तरह इस बार भी कांग्रेस कमलनाथ (Kamal Nath) के चेहरे पर ही चुनाव लड़ेंगी और 15 महिने के कार्यकाल को जनता के बीच जमकर भुनाएगी।

यह भी पढ़े.. MP School: सोमवार से खुलेंगे स्कूल, ऐसे लगेंगी कक्षाएं, कलेक्टर ने जारी किए आदेश

वही दूसरी तरफ दमोह उपचुनाव में करारी हार से सबक लेते हुए बीजेपी ने रणनीतियां बनाना शुरु कर दिया है। उपचुनाव के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan)  ने मंत्रियों की फौज उतार दी है, हालांकि प्रभार जिले तो पहले ही सौंप दिए गए है, लेकिन उपचुनावों को लेकर विशेष फोकस देने को कहा है।इसके अलावा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आगामी दिनों में  खंडवा, निवाड़ी, सतना और अलीराजपुर के दौरे शुरू करने वाले हैं। हालांकि दोनों ही दलों द्वारा खंडवा लोकसभा क्षेत्र पर ज्यादा फोकस किया जा रहा है।हाल ही में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुरहानपुर में करोड़ों की सौगात दी है।

इन सीटों पर होना है उपचुनाव

मध्य प्रदेश की खंडवा लोकसभा सीट  और पृथ्वीपुर (Prathvipur Vidhansabha), जोबट (Jobat Vidhansabha) और रैगांव विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होना है। खंडवा सीट  नंदकुमार सिंह चौहान के निधन से खाली हुई है।वही निवाड़ी पृथ्वीपुर से कांग्रेस विधायक बृजेंद्र प्रताप सिंह (Brajendra Pratap Singh), जोबट से कांग्रेस विधायक कलावती भूरिया (Kalawati Bhuriya) और रैगांव से भाजपा विधायक जुगल किशोर बागरी का निधन हो गया था। अब जल्द ही इन सीटों के लिए चुनावों की घोषणा की जा सकती है।

इन प्रत्याशियों के नामों की चर्चा तेज

भाजपा के लिए खंडवा लोकसभा सीट सबसे अहम मानी जा रही है। बीजेपी की तरफ से इस सीट पर नंदकुमार सिंह चौहान (Nand Kumar Singh Chauhan) के बेटे हर्ष, अर्चना चिटनिस (Archana Chitnis) और कृष्ण मुरारी मोघे (Krashn Moorari Moghe) का नाम चर्चा में है। वहीं कांग्रेस की तरफ से अरुण यादव का नाम प्रमुख रूप से उभरकर सामने आ रहा है।  वहीं विधानसभा सीटों की बात करें तो पृथ्वीपुर सीट कांग्रेस की तरफ से  बृजेंद्र के बेटे ,जोबट सीट पर सुलोचना रावत, मुकेश पटेल, विक्रांत भूरिया का नाम चर्चा में है। वही  रैगांव सीट पर कई नेता दावेदारी पेश कर रहे हैं।