CM Helpline ग्रेडिंग लिस्ट जारी, बुरहानपुर शीर्ष पर काबिज, भोपाल-इंदौर-ग्वालियर पिछड़े

इंदौर को 11 नंबर पर रखा गया है। इंदौर से पहले कटनी नौवें, सागर दसवें स्थान पर बना हुआ है।

CM HELPLINE

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट मध्य प्रदेश (MP) की जनता को हो रही परेशानी के निराकरण के लिए सीएम हेल्पलाइन नंबर (CM Helpline Number) की शुरुआत की गई थी। सीएम हेल्पलाइन के जरिए प्रदेश के शासकीय योजनाओं (Government scheme) में आने वाली समस्या सहित अन्य परेशानियों को लेकर शिकायत दर्ज कराते हैं। हालांकि सीएम हेल्पलाइन में दर्ज शिकायतों के निपटारे के आधार पर नगरीय प्रशासन और विकास संचालनालय द्वारा सभी नगर निगम की ग्रेडिंग लिस्ट(Grading list) जारी कर दी गई है। इस लिस्ट में शिकायतों के सबसे तेज निराकरण और संतुष्टि वेटेज के प्रतिशत के आधार पर बुरहानपुर (Burhanpur) को पहला स्थान मिला है।

वहीं राजधानी भोपाल को सबसे फिसड्डी जिला घोषित किया गया है। बता दें कि नगरीय प्रशासन और विकास संचालनालय द्वारा हर महीने ग्रेडिंग लिस्ट जारी की जाती है। इस लिस्ट में रैंकिंग के आधार और संतुष्टि वेटेज के आधार पर ग्रेडिंग का निर्धारण होता है। वही भोपाल नगर निगम की बात करें तो सिर्फ भोपाल एक ही बार टॉप 10 अपनी जगह बना पाया है।

वहीं नगर निगम भोपाल सीएम हेल्पलाइन में फिलहाल कुल 6075 शिकायतें दर्ज है जबकि जनता ने संतुष्टि वेटेज में भोपाल को 41.22 फीसद अंक दिए हैं। ग्रेडिंग में हुई गिरावट पर नगर निगम कमिश्नर बीएस चौधरी कोलसानी का कहना है कि ग्रेडिंग संतुष्टि वेटेज के आधार पर हर महीने जारी की जाती है लेकिन इस महीने भोपाल की ग्रेडिंग काफी कमजोर है। इसके स्तर को सुधारने की कोशिश की जा रही है।

Read More : कर्मचारियों के रिटायरमेंट उम्र बढ़ाकर 65-70 वर्ष करने पर सरकार का बड़ा बयान, जानें कब मिलेगा लाभ

जारी हुई ग्रेडिंग में बुरहानपुर को संतुष्टि वेटेज में 57.74 फीसद अंक मिले हैं। बुरहानपुर सीएम हेल्पलाइन में 266 शिकायतें दर्ज है। इसके अलावा दूसरे नंबर पर रतलाम ने अपनी जगह सुनिश्चित की है। रतलाम में जहां कुल 958 शिकायतें दर्ज है। वही संतुष्टि वेटेज में उसे 55.99% अंक दिए गए हैं।

छिंदवाड़ा को तीसरे स्थान पर रखा गया है छिंदवाड़ा में 328 शिकायतें दर्ज है जबकि 53.41% संतुष्टि वेटेज के साथ जिला तीसरे नंबर पर बना हुआ है। वहीं जबलपुर को चौथा, रीवा को पांचवा, उज्जैन को छठा ,सिंगरौली को सातवां और देवास को आठवां स्थान प्राप्त हुआ है। जबलपुर में 3785 शिकायतें दर्ज हुआ है, जबकि संतुष्टि वेटेज में उसे 51.09% अंक मिले हैं। वही रीवा में 1334 शिकायतें दर्ज है। संतुष्टि वेटेज में उसे 49.57% अंक मिले हैं।

Read More : MP School: राज्य शासन का बड़ा फैसला, DEO को निर्देश जारी, छात्रों को मिलेगा लाभ, ये रहेंगे नियम

उज्जैन में 1310 शिकायतें दर्ज है जबकि संतुष्टि वेटेज में जनता ने 47.82% अंक दिए हैं। सिंगरौली में 519 शिकायतें दर्ज है। वही संतुष्टि वेटेज में जनता ने सीएम हेल्पलाइन की कार्यशैली को 48.32% अंक दिए हैं। देवास में संतुष्टि वेटेज के आधार पर सीएम हेल्पलाइन 45.78% अंक उपलब्ध कराए गए। इंदौर को 11 नंबर पर रखा गया है। इंदौर से पहले कटनी नौवें, सागर दसवें स्थान पर बना हुआ है।

ग्वालियर को 12वा स्थान मिला है, मुरैना को 13वा स्थान के साथ खंडवा को 14वा जबकि सतना 15वा और भोपाल 16 नंबर पर काबिज है। ज्ञात हो कि सीएम हेल्पलाइन पर भोपाल निगम की 28 केटेगरी में शिकायत की जाती है। जून में भोपाल में सबसे ज्यादा 1263 शिकायत से जुड़ी हुई थी जबकि साफ-सफाई स्वास्थ्य सेवा से जुड़ी शिकायत 1221 दर्ज की गई थी।