MP News: इन जिलों में कोरोना केस ने बढ़ाई चिंता, 13 दिन में मिले 112 पॉजिटिव

वहीं प्रदेश में रिकवरी रेट 98.6 से रिकॉर्ड किया गया, positivity rate 0.01% है। वहीं प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 80 पहुंच गई है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (MP) में फिर से कोरोना संक्रमण (corona numbers) के मामले में तेजी देखी जा रही है। लगातार बड़ी पॉजिटिव केसों (positive case) की संख्या प्रशासन (administration) को सचेत कर दिया है। छोटे जिलों में लगातार संक्रमण के मामले चिंता का विषय बन गए हैं। शुक्रवार को 16 पॉजिटिव मरीजों की पुष्टि के बाद शनिवार को मामले में कमी देखी गई थी। वहीं रविवार को एक बार फिर से प्रदेश में 12 पॉजिटिव मरीजों की पुष्टि हुई है।

रविवार को प्रदेश में 12 संक्रमण के मामले सामने आए हैं। जिसमें सबसे ज्यादा मामले जबलपुर से है। दरअसल सबसे ज्यादा मामले जबलपुर (jabalpur)  में चार, मनावर धार में दो और श्योपुर, इंदौर, ग्वालियर और भोपाल में 1-1 मामले रिकॉर्ड किए गए हैं। प्रदेश में 13 दिन में 15 जिलों में सबसे ज्यादा 112 पॉजिटिव मरीजों की पुष्टि हुई है। जबलपुर के साथ-साथ इंदौर, भोपाल, राजगढ़, ग्वालियर, होशंगाबाद और पन्ना में भी संक्रमण के मामले में बढ़ोतरी देखी जा रही है। इसी बीच केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों को प्रतिबंध बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। केंद्र सरकार का कहना है कि त्योहारी मौसम नजदीक है। जिसमें लोगों की बाजार में लगातार बढ़ रही भीड़ संक्रमण को बढ़ावा दे सकती है।

Read More: CM Shivraj ने किया पीएम स्वनिधि योजना में हितग्राहियों को ऋण वितरण, की ये बड़ी घोषणा

ज्ञात हो कि देश में कोरोना की संभावित इसे लहर को लेकर तैयारियां जोरों शोरों से की जा रही है। केंद्र सरकार ने प्रदेश के केरल और महाराष्ट्र में संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए प्रतिबंधों को बढ़ाने और लॉकडाउन के निर्देश दिए हैं। वही मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान लगातार corona समीक्षा बैठक कर रहे हैं। वही जिला कलेक्टर को बढ़ते संक्रमण मामले को रोकने के लिए सख्त गाइडलाइन का पालन करवाने के निर्देश दिए जा रहे हैं।

धातु की मध्यप्रदेश में अब तक 7 लाख 81 हजार 548 मरीज ठीक होकर अपने घर वापस लौट चुके हैं। जबकि 10000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं प्रदेश में रिकवरी रेट 98.6 से रिकॉर्ड किया गया, positivity rate 0.01% है। वहीं प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 80 पहुंच गई है।